Almond क्या होता है? बादाम के फायदे और नुकसान? जानिए Almond Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे बादाम के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Almond in Hindi) के बारे में क्योंकि बादाम सुखा मेवा यानी के ड्राई फ्रूट की कैटेगरी में आता है। हमारे बड़े बुजुर्गों ने प्राचीन काल से ही बादाम के अंदर मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में जानकारी हासिल कर ली थी। इसीलिए इसका इस्तेमाल ऐसी अवस्था में किया जाता था जब व्यक्ति को ताकत की आवश्यकता होती थी। आपने यह भी सुना होगा कि जब कोई महिला गर्भवती हो जाती है, तो उसे खाने में बादाम और काजू दिया जाता था,

ताकि उसकी सेहत सही बनी रहे और उसका होने वाला बच्चा भी स्वस्थ पैदा हो। बादाम स्वास्थ्य के नजरिए से विभिन्न प्रकार से फायदेमंद है। इसलिए हमें रोज चार से पांच बादाम तो अवश्य खाने चाहिए। आज के इस लेख में जानेंगे कि Almond Kya Hai, बादाम के फायदे, बादाम के नुकसान, Almond in Hindi, Almond meaning in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

अलमेंड क्या होता है? – What is Almond in Hindi

Almond In Hindi
Almond In Hindi

Almond यानी कि बादाम की गिनती ड्राई फ्रूट की कैटेगरी में की जाती है और यह साल के 12 महीने हमें किसी भी पंसारी की दुकान से प्राप्त हो जाता है। इंडिया में बादाम की सबसे ज्यादा खेती साउथ के राज्यों जैसे कि तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना इत्यादि राज्यो में होती है। इसके अलावा मणिपुर, असम, अरुणाचल प्रदेश और हिमाचल प्रदेश के इलाकों में भी इसकी खेती होती है, वहीं जम्मू-कश्मीर के अंदर भी यह अच्छी मात्रा में पैदा किए जाते हैं।

Almond दिखने में हल्के नारंगी रंग का होता है क्योंकि इसकी बाहरी परत हल्की नारंगी होती है, वही जब इसे तोड़ा जाता है तो अंदर से यह सफेद दिखाई देता है। बादाम खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगता है। इसके अलावा इसके अंदर मौजूद पौष्टिक तत्वों के कारण ही इसका सेवन शारीरिक कमजोरियों को दूर करने की अवस्था में किया जाता है।

अलमेंड को हिंदी में क्या कहते हैं? – Almond meaning in Hindi

Almond एक स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक सुखा मेवा है जिसे हिंदी भाषा में बादाम के नाम से जाना जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम प्रूनुस अमाइग्डैलस होता है। बादाम को हमारे भारत में कई नामों से जाना जाता है। जैसे कि बंगाली, गुजराती, मराठी और हिंदी भाषा में इसे बादाम ही कहा जाता है, वही फारसी लैंग्वेज में बादाम को बदाम शोरी कह कर बुलाते हैं।

ये भी पढ़ें : Peach Fruit क्या होता है? आड़ू के फायदे, नुकसान और उपयोग क्या हैं?

इसके अलावा अंग्रेजी में इसे अलमेंड और लैटिन भाषा में इसे एमिग्ड्रेलस कम्युनीज कहकर बुलाया जाता है। हमें तकरीबन 160 कैलोरी, 28 ग्राम बादाम खाने के बाद प्राप्त होती है। जो लोग मोटे होना चाहते हैं उनके लिए बादाम एक रामबाण उपाय के तहत लाभकारी साबित होता है।

बादाम के प्रकार – Types of Almond in Hindi

अभी तक आपने ऐसे ही बादाम खाए होंगे जो बाहर से दिखाई देने में नारंगी कलर के होते हैं। इसीलिए आपको लगता होगा कि बादाम सिर्फ एक ही प्रकार का होता है परंतु ऐसा नहीं है। बादम के कई प्रकार हैं जिनमें से कुछ की इंफॉर्मेशन नीचे मेंशन की गई है।

  • कैलिफोर्निया पेपर सेल
  • शालीमार
  • नॉनपरेल
  • मखदूम
  • ड्रेक
  • नेप्लस
  • वारिस
  • प्रीमोर्सकी
  • सोनोरा
  • रूबी
  • Pranyaj

बादाम के फायदे – Benefits of Almond in Hindi

अमीनो एसिड, फैटी एसिड, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन यह कुछ ऐसे तत्व हैं जिसके कारण ही बादाम पौष्टिक गुणों की खान माना जाता है और इसीलिए इसका दाम मार्केट में ज्यादा होता है। बादाम खाने के फायदे क्या क्या है यह जानने के लिए आगे पढते रहें।

1. बादाम वजन कम करें

जब कोई व्यक्ति 100 ग्राम बादाम खाता है तो 100 ग्राम बादाम खाने के बाद उसकी बॉडी को तकरीबन में 12 ग्राम डाइटरी फाइबर प्राप्त होता है। यही डाइटरी फाइबर इंसानों की बॉडी में पाचन तंत्र में जब जाता है तो वहां पर पॉजिटिव इफेक्ट डालता है।

इसके अलावा Almond के अंदर अच्छी मात्रा में हेल्दी वसा भी उपलब्ध होता है जिसके कारण जब हम बादाम खाते हैं तो हमारा पेट लंबे समय तक भरा हुआ महसूस होता है और इसीलिए हमें भूख कम लगती है और जब हमें भूख कम लगती है तो उसके कारण ही हमारा वजन कंट्रोल में आ जाता है और धीरे-धीरे हमारे वजन में कमी आ जाती है।

2. बादाम दिमाग तेज करें

ऐसे लोग जो कमजोर याददाश्त शक्ति से परेशान हैं उन्हें भी बादाम को अपने डाइट में शामिल अवश्य करना चाहिए, क्योंकि बादाम दिमाग को तेज करने का काम करता है। इसके पीछे कारण यह है कि Almond में पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, पॉलिफिनॉल्स, फॉलेट, टोकॉफरोल जैसे तत्व पाए जाते हैं और यह सभी तत्व जब नियमित तौर पर हमारी बॉडी में जाते हैं

ये भी पढ़ें : Cinnamon क्या होता है? दालचीनी के फायदे, नुकसान और उपयोग

तो यह सीधा दिमाग को बेहतर बनाने के लिए काम करना चालू करते हैं और इसी के कारण हमारा दिमाग तेज बनता है, जिसके कारण हमारी याददाश्त शक्ति भी मजबूत बनती है। इसके अलावा विटामिन सी भी इसमें पाया जाता है, यह भी बादाम के अंदर पाए जाने वाले अन्य तत्वों के साथ मिलकर के दिमाग को तेज बनाने का काम करता है।

3. बादाम वजन बढ़ाए

क्या आप जानते हैं कि बादाम वजन घटाने के लिए तो कारगर है ही, साथ ही यह वजन बढ़ाने के लिए भी बहुत ही प्रभावशाली माना जाता है। हालांकि वजन बढ़ाने के लिए आपको इसका इस्तेमाल थोड़ा हटके करना पड़ेगा। अगर आप पतले हैं और अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको रोज रात को 10 बादाम पानी में भिगो देने हैं और सुबह उठकर के आपको इसे अच्छी तरह से कूट लेना है।

उसके बाद आपको गाय के 1 गिलास हल्के गुनगुने दूध में इसे डालना है, साथ ही उसमें आपको 2 चम्मच अश्वगंधा पाउडर और 2 चम्मच शतावरी पाउडर तथा 1 चम्मच मुसली पाउडर डालना है और इसे आपको पी जाना है। यह उपाय 3 महीने के अंदर ही आपके वजन को काफी अच्छा कर देगा।

4. आंखों की शक्ति बढ़ाए बादाम

बढ़ती उम्र के साथ आंखें तो कमजोर होती ही है, साथ ही अधिक देर तक टीवी देखने से या फिर अधिक देर तक मोबाइल देखने से भी जवान लोगों की आंखें भी कमजोर हो जाती हैं। अगर आपको भी आंखों की कमजोरी का सामना करना पड़ रहा है तो एक बार आपको Almond को अवश्य ट्राई करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : Bay Leaf क्या होता है? तेजपत्ता के फायदे और नुकसान

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि बादाम में जिंक, विटामिन ई, एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। यह सभी तत्व हमारी बॉडी के अन्य अंगों को फायदा पहुंचाते हैं, साथ ही आंखों को स्वस्थ बना करके उसकी रोशनी भी तेज करने का काम करते हैं। बादाम में पाया जाने वाला जिंक तत्व सीधा हमारी आंखों के अंदर मौजूद रेटिना पर अपना प्रभाव डालता है और उसे स्ट्रांग बनाता है।

5. बादाम पाचन अच्छा करें

कमजोर पाचन का सामना करने वाले लोगों को बादाम अपने भोजन में शामिल करना चाहिए क्योंकि यह पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और उसके पीछे कारण यह है कि प्रीबायोटिक्स और फाइबर अलमेंड में पाए जाते हैं और यह तत्व जब हमारे पेट में जाते हैं

तो पेट में जाने के बाद यह आंतों के अंदर जो बैक्टीरिया हैं उन्हें खत्म करते हैं जिससे हमारा पाचन तंत्र बढ़िया बन जाता है। इसके अलावा बादाम हड्डियों को मजबूत बनाता है, बालों को भी स्वस्थ करता है, हमें एनर्जी देता है और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को भी कम करता है।

बादाम खाने के नुकसान – Side Effects of Almond in Hindi

हमें हमेशा किसी भी चीज के दोनों पक्षों के बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए ताकि आगे चलकर के हमें परेशानी ना उठानी पड़े। बादाम के एडवांटेज तो आपने जान ही लिए। अब आइए यह जान लेते हैं कि बादाम के डिसएडवांटेज यानी कि अलमेंड खाने के साइड इफेक्ट क्या है।

  • यह सभी लोगों को तो नहीं होता है परंतु कुछ लोगों में ऐसा देखा गया है कि जब उन्होंने बादाम को खाना चालू किया है तो उन्हें फूड एलर्जी हो गई है।
  • फाइबर एक ऐसी चीज है जो बादाम में भारी मात्रा में मौजूद होती है। इसीलिए अगर आप Almond को लिमिट में खाते हैं तो आपको कोई समस्या नहीं होगी परंतु अगर आप इसे ओवरलिमिट में खाते हैं तो आपका पेट फूल सकता है या फिर पेट में ऐठन और सूजन की समस्या भी आपको महसूस हो सकती है।
  • कुछ रिसर्च में यह बात सामने निकल कर के आई है कि ऑक्सलेट कंपाउंड नाम का एक तत्व बादाम में होता है। यह गुर्दे की पथरी को बढ़ाने का काम करता है। हालांकि यह तभी होता है जब कोई व्यक्ति Almond को डाइट के तौर पर नहीं बल्कि जीभ के स्वाद के तौर पर भारी मात्रा में खाना चालू करता है।

बादाम कैसे खाएं? – How to Eat Almond in Hindi

बादाम को आप अपने हिसाब से खा सकते हैं परंतु अगर आप यह जानना ही चाहते हैं कि अलमेंड खाने के तरीके क्या है या फिर अलमेंड कैसे खाया जाता है तो नीचे पढ़ें।

  • भिगोकर
  • हलवा बनाकर
  • दूध के साथ
  • मिल्क शेक बनाकर
  • केक में मिलाकर
  • मिठाइयों के साथ
  • सुखा खाए

बादाम खाने का सबसे अच्छा समय – Best Time to Eat Almond in Hindi

बादाम का पूरा पूरा फायदा लेने के लिए जब आप जिम में कसरत करके अपने घर पर आए तब आपको इसे खाना चाहिए और अगर सामान्य तौर पर आप इसे खाना चाहते हैं तो आपको रात में इसे भिगोकर सुबह इसे खाना चाहिए। आप शाम के टाइम भी बादाम को खा सकते हैं।

रोजाना कितना अलमेंड खाना चाहिए? – How many Almond to eat per Day

बादाम खाने के लिए वैसे तो कोई लिमिट तय नहीं की गई है परंतु कुछ वेबसाइट से हमें यह इंफॉर्मेशन प्राप्त हुए की किसी व्यक्ति को रोजाना एक मुट्ठी बादाम खाना चाहिए। एक मुट्ठी Almond तकरीबन 56 ग्राम के आसपास होता है।

ये भी पढ़ें : ड्रमस्टिक क्या होता है? जानिए Drumstick (सहजन) के फायदे, नुकसान, प्रकार, उपयोग

वैसे देखा जाए तो बादाम का सेवन आप अपनी बॉडी के हिसाब से या फिर अपनी आवश्यकता के हिसाब से कर सकते हैं। अगर आप पतले हैं तो आप रोजाना 3 से 4 मुट्ठी बादाम खा सकते हैं और अगर आप मोटे हैं तो आप रोजाना 1 से 2 मुट्ठी बादाम ले सकते हैं।

क्या बादाम वजन घटाने के लिए अच्छा है?

बादाम इंसानों की बॉडी के अंदर मौजूद सैचुरेटेड फैट को घटाने के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है और बादाम इसे इसीलिए घटा पाता है क्योंकि Almond के अंदर मोनोसैचुरेटेड फैट और विटामिन ई मौजूद होता है। इन्हीं तत्वों के कारण व्यक्ति को ज्यादा खाना खाने का मन नहीं करता है और वह अधिक खाना खाने से बच जाता है।

ऐसे लोग जो अपने बढ़े हुए वजन को लेकर के परेशान रहते हैं वह बादाम को सुबह के नाश्ते के तौर पर ले सकते हैं। सुबह के नाश्ते के तौर पर Almond खाने से उनकी एनर्जी में बढ़ोतरी होती है, साथ ही यह वेट घटाने में भी सहायक होता है।

Almond यानि बादाम के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

बादाम में कितना प्रोटीन पाया जाता है?

100 ग्राम बादाम में 21.15 ग्राम प्रोटीन उपलब्ध होता है।

100 ग्राम बादाम में प्रोटीन की मात्रा

579 केसीएल

बादाम में कितना कार्बोहाइड्रेट होता है?

21.55 ग्राम

सबसे अच्छी बादाम कौन सी होती है?

मामरा बादाम

सबसे महंगी बादाम कौन सी है?

मैकडेमिया नट्स

1 दिन में कितने बादाम खाने चाहिए?

एक मुट्ठी यानी कि 56 ग्राम तक

बादाम सबसे सस्ता कहां मिलता है?

दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में

बादाम कितने रुपए किलो है?

इसका रेट हर राज्य में, हर जिले में अलग अलग है।

अलमेंड में पाए जाने वाले विटामिन के नाम क्या है?

थाइमिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी, फोलेट, विटामिन ई

अलमेंड अथवा बादाम का साइंटिफिक नाम क्या है?

प्रूनुस अमाइग्डैलस

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की अलमेंड क्या होता है? और बादाम के फायदे और नुकसान? (Almond in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Almond Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Almond in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment