अर्ध चक्रासन क्या होता है? अर्ध चक्रासन के फायदे और करने का तरीका? जानिए Ardha Chakrasana Ke Fayde से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे अर्ध चक्रासन की पूरी जानकारी (Ardha Chakrasana) के बारे में क्योंकि सुबह उठकर के योगा करने के फायदे तो आपने अवश्य पढ़े ही होंगे, साथ ही आपने यह भी पढ़ा होगा कि कौन सा योगासन करने से हमें कौन से फायदे होते हैं। जिस प्रकार जिम के अंदर अलग-अलग कसरत होती है, उसी प्रकार भारतीय योगा में भी अलग-अलग योगासन है। योगासन का मतलब होता है अलग-अलग प्रकार के ऐसे आसन, जिसे एक ही जगह पर रहकर किया जा सके।

बात करें अगर अर्ध चक्रासन की तो कई लोग इसके बारे में जानना चाहते हैं कि आखिर अर्ध चक्रासन होता क्या है और अर्ध चक्रासन करने के फायदे क्या हैं तथा अर्ध चक्रासन कैसे किया जाता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Ardha Chakrasana Kya Hai, अर्ध चक्रासन के फायदे, Ardha Chakrasana in Hindi, Half Wheel Pose meaning in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

अर्ध चक्रासन क्या है? – What is Ardha Chakrasana in Hindi

Ardha Chakrasana
Ardha Chakrasana

कोई व्यक्ति जब अर्ध चक्रासन करता है, तो उसे सबसे पहले इसे करने की स्टार्टिंग ताड़ासन से करनी पड़ती है और उसे धीरे-धीरे अपनी कमर पर हाथ रखते हुए अपनीsr कमर को पीछे की साइड में झुकाना होता है, साथ ही सर को भी पीछे की साइड में झुकाना होता है। अंग्रेजी भाषा में अर्ध चक्रासन को Half Wheel Pose कहा जाता है।

Ardha Chakrasana टोटल 3 संस्कृत के शब्दों से मिलकर बना हुआ है जो है अर्ध, चक्र और आसन। इसमें से अर्ध का मतलब होता है आधा, चक्र का मतलब होता है गोल गोल पहिया और आसन अर्थात होता है मुद्रा।

अर्ध चक्रासन करने से पहले ध्यान रखें यह बातें

किसी भी प्रकार के योगासन को करने का मजा तभी आता है जब हमें अनुकूल वातावरण प्राप्त हो, साथ ही सारी सुविधाएं उपलब्ध हो। अगर आप अर्ध चक्रासन करने के बारे में सोच रहे हैं, तो उससे पहले कुछ इंतजाम अवश्य कर ले, जो इस प्रकार है।

  • यह आसन सुबह के समय में किया जाए तो अति उत्तम होता है।
  • आसन के लिए ऐसी जगह का चयन करें, जहां पर शांत वातावरण हो।
  • आप इसे घर पर कर सकते हैं या फिर किसी गार्डन में भी कर सकते हैं।
  • आसन करने के दरमियान मोबाइल फोन को स्विच ऑफ कर ले और सभी शोर पैदा करने वाली चीजों से दूरी बना ले।
  • इस आसन को खाली पेट किया जाना चाहिए। इसलिए सुबह उठकर बिना कुछ खाए पिए करें।
  • अगर आप शारीरिक रूप से कमजोर है तो आप हल्का नाश्ता करके इस आसन को कर सकते हैं।

अर्ध चक्रासन कैसे करें?

हो सकता है कि Ardha Chakrasana का मतलब क्या होता है? इसके बारे में जानने के बाद आपके मन में भी अर्ध चक्रासन करने की इच्छा पैदा हो रही हो। इसीलिए आपको इसे करने का सही तरीका जान लेना चाहिए। नीचे आपको अर्ध चक्रासन करने की प्रक्रिया क्या है अथवा अर्ध चक्रासन कैसे किया जाता है, इसकी इंफॉर्मेशन दी गई है।

Ardha Chakrasana Steps In Hindi
Ardha Chakrasana Steps In Hindi

1. इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपनी बालकनी में चले जाए या फिर अपने छत पर चले जाएं। याद रखें कि यह आसन आपको सुबह के समय में करना है।

2. जगह निश्चित कर लेने के बाद एक चटाई जमीन पर बिछाए।

3. अब अपने दोनों पैरों को आपस में सटाए और सीधा खड़े हो जाएं, साथ ही अपने दोनों हाथों को अपनी कमर पर रख ले।

4. अब आपको अपने सर को और अपनी कमर को पीछे की साइड में झुकाना है। जहां तक आप कंफर्टेबल हो आपको वहां तक अपनी कमर को झुकाना है और धीरे-धीरे फिर पहले की अवस्था में आ जाना है। इस आसन को जितनी बार आपको सूटेबल लगता है, उतनी बार करना है।

अर्ध चक्रासन करने के फायदे – Benefits of Ardha Chakrasana in Hindi

अर्ध चक्रासन करने से आपको कई फायदे तो प्राप्त हो सकते हैं परंतु अगर आप यह सोचे कि इसे 1 ही दिन करने से आपको सभी फायदे मिल जाएंगे तो ऐसा नहीं है। आपको रोजाना इसे करना होगा क्योंकि कुछ पाना है तो आपको कुछ ना कुछ तो करना ही होगा। नीचे हमने आपके लिए Ardha Chakrasana करने के एडवांटेज पेश किए हैं, जिस पर गौर करें।

1. एब्डोमेन मसल्स मजबूत बनाएं अर्ध चक्रासन

जब आप अर्ध चक्रासन करते हैं तो इससे आपके पेट के आसपास की जो मसल हैं, उनमें काफी तेज खिंचाव उत्पन्न होता है, जो कुछ देर तक बना रहता है। इससे होता क्या है कि आपके पेट के आसपास के एरिया के जो मसल्स है, वह टाइट होते है और उनके काम करने की क्षमता में बढ़ोतरी होती है।

ये भी पढ़ें : स्टेमिना कैसे बढ़ाए?

2. पाचन बढ़िया करे अर्ध चक्रासन

आदमी जो खाना खाए, उसका पाचन सही प्रकार से हो जाए, तो फिर कहना ही क्या, क्योंकि खाने में से ही हमें ताकत मिलती है। अगर आपके पाचन में गड़बड़ी है, तो Ardha Chakrasana को आपको करना चालू कर देना चाहिए। यह पेट में खिंचाव उत्पन्न करता है जिससे पाचन तंत्र की गड़बड़ी ठीक हो जाती है और वह सही से काम करता है।

3. रीढ़ को लचीला बनाए अर्ध चक्रासन

क्या आप जानते हैं कि जब आप अर्ध चक्रासन के पोज को करते हैं तो इससे पेट में तो खिंचाव होता ही है, साथ ही आप की रीढ़ की हड्डियों में भी खिंचाव पैदा होता है, जो रीढ़ की हड्डियों के लिए अच्छा माना जाता है।

4. पीठ की समस्या खत्म करें अर्ध चक्रासन

जब आप Ardha Chakrasana करते हैं तो यह पेट में भी काफी अच्छे तरीके से स्ट्रेचिंग करता है। इससे पेट का दर्द जिन लोगों को होता है उन्हें धीरे-धीरे आराम मिलता है।

5. पूरी बॉडी फिट करें अर्ध चक्रासन

अगर आप अपनी बॉडी में पेट के ऊपर वाले हिस्से को भी बढ़िया आकार देना चाहते हैं, तो आपको रोजाना इसे करना चाहिए। यह आपकी लाइफ स्टाइल को बेहतर बनाने का काम करता है।

ये भी पढ़ें : हलासन क्या होता है? हलासन कैसे करते है?

6. स्टेमिना बढ़ाए अर्ध चक्रासन

स्टेमिना ऐसे लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, जो किसी दौड़ की तैयारी कर रहे हैं। खासतौर पर पुलिस और आर्मी की दौड़ की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को इसे अवश्य करना चाहिए। यह स्टेमिना को इनक्रीस करने का काम करता है, जिससे आलसपन भी खत्म होता है और आप चुस्त-दुरुस्त बनते हैं।

7. भूख बढ़ाए अर्ध चक्रासन

हालांकि इस बात के कोई प्रमाण तो नहीं है परंतु कुछ लोगों की जुबानी के अनुसार अर्ध चक्रासन करने से उनके पेट में जो आग शांत हो गई थी वह तेज हुई, जिसे कारण उनकी भूख में इजाफा हुआ और अब अधिक खाना खाने की वजह से वह स्वस्थ बन चुके हैं।

8. पेट की चर्बी कम करें अर्ध चक्रासन

अर्ध चक्रासन करने से पेट में खिंचाव पैदा होता है, साथ ही कमर की मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न होता है, जो धीरे-धीरे चर्बी जलाने का काम करती है। मोटापे की समस्या से परेशान लोगों को इसे करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : लम्बाई कैसे बढ़ाये?

9. रीड की हड्डी सीधी करें अर्ध चक्रासन

जो लोग अधिक देर तक झुक कर बैठते हैं, उनमें प्राय रीढ़ की हड्डियों में टेढ़ापन देखा जाता है। उसे सही करने के लिए इसे करना बेहतर माना जाता है।

अर्ध चक्रासन के पहले और बाद कौन सा आसन करें?

नीचे हमने आपको अर्ध चक्रासन के पहले कौन सा आसन करना चाहिए और Ardha Chakrasana के बाद कौन सा आसन करना चाहिए, इसकी जानकारी दी है।

अर्ध चक्रासन करने के पहले

  • भुजंगासन
  • सेतुबंध सर्वांगासन
  • ऊर्ध्व मुख श्वानासन
  • वीरासन

अर्ध चक्रासन करने के बाद

  • चक्रासन
  • शवासन

अर्थ चक्रासन किसे नहीं करना चाहिए?

  • रीढ़ की हड्डी, गले या कूल्हे में चोट लगे हुए व्यक्तियों को
  • वर्टिगो की समस्या से परेशान लोगों को
  • हाई बीपी वाले लोगों को
  • प्रेग्नेंट महिलाओं को
  • अस्थमा की प्रॉब्लम वाले लोगों को
  • डायरिया की प्रॉब्लम वाले लोगों को
  • बवासीर की समस्या वाले लोगों को

अर्थ चक्रासन (Ardha Chakrasanain) से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

अर्ध चक्रासन कब करना चाहिए?

सुबह के समय में

अर्ध चक्रासन को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

Half Wheel Pose

Ardha Chakrasana में क्या होता है?

आपकी बॉडी कमर के हिस्से से पीछे जाती है।

अर्ध चक्रासन में सबसे ज्यादा प्रेशर कहां पर आता है?

रीढ़ की हड्डियों में और कमर में

अर्ध चक्रासन में कमर को कितनी देर तक झुका कर रखना चाहिए?

5 से 7 सेकंड

Ardha Chakrasana में कमर दुखे तो क्या करें?

थोड़ा रेस्ट करें और फिर से करें

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की अर्थ चक्रासन क्या होता है? और अर्थ चक्रासन के फायदे और नुकसान? (Benefits of Ardha Chakrasanain Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में अर्धचक्रासन के लाभ को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी। अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे।

अगर आपको हमारे द्वारा ardha chakrasana benefits in hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment