कॉर्नफ्लोर क्या होता है? कॉर्न फ्लोर के फायदे और नुकसान? जानिए Corn Flour Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे कॉर्न फ्लोर के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Corn Flour in Hindi) के बारे में क्योंकि आजकल आपको मार्केट में जगह-जगह पर चिल्ली पोटैटो और मंचूरियन जैसे फास्ट फूड खाने को मिल जाएंगे परंतु क्या आप जानते हैं कि वह कौन सी चीज है जिसका इस्तेमाल करके इसे तैयार किया जाता है? जी हां आप सही समझ रहे हैं वह है कॉर्नफ्लोर, यही वह चीज है जिसका इस्तेमाल करके मंचूरियन और चिली पटेटो जैसी चीजें तैयार की जाती है जिसे लोग काफी चाव के साथ खाते हैं।

Corn Flour एक अंग्रेजी शब्द है। इसलिए कई लोग इसका हिंदी में क्या मतलब होता है, इसके बारे में जानने की इच्छा रखते हैं। आज के इस लेख में जानेंगे कि Corn Flour Kya Hota Hai, कॉर्न फ्लोर के फायदे, Corn Flour in Hindi, कॉर्न फ्लोर के नुकसान, Corn Flour meaning in Hindi, कॉर्न फ्लोर किसे कहते हैं, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

कॉर्नफ्लोर क्या होता है? – What is Corn Flour in Hindi

Corn Flour In Hindi
Corn Flour In Hindi

Corn Flour का अगर सबसे ज्यादा कहीं पर इस्तेमाल होता है तो वह है चाइनीस आइटम को बनाने में। वर्तमान के टाइम में फास्ट फूड इंडस्ट्री में कॉर्न फ्लोर का काफी बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जा रहा है। बता दे कि जो मक्के का आटा होता है उसका ही यह स्टार्च होता है। जब Corn Flour के जरिए कोई आइटम बनाया जाता है तो उसमें गाढापन आ जाता है।

इसके साथ ही जब आइटम बन करके तैयार हो जाता है तो उसे खाने में काफी ज्यादा मजा लोगों को आता है। मार्केट में आपको आसानी से किसी भी पंसारी की दुकान पर कॉर्नफ्लोर पैकेट बंद के तौर पर मिल जाएगा। जब आप इसे देखते हैं तो इसका कलर सफेद दिखाई देता है। ऐसे व्यंजन जिसमें जूस को गाढ़ा करने की आवश्यकता होती है उसमें इसका ज्यादा इस्तेमाल होता है।

कॉर्न फ्लोर का मतलब क्या है? – Corn Flour meaning in Hindi

इसकी सरल व्याख्या यही है कि Corn Flour का मतलब होता है मक्के का स्टार्च। कॉर्न फ्लोर का फैक्ट्रियों में निर्माण किया जाता है जिसके लिए सबसे पहले जो मक्का होता है उसके दाने लिए जाते हैं और उन्हें साफ किया जाता है। इसके बाद मक्के के दानों पर उपलब्ध छिलके को हटाया जाता है और फिर इसे बड़ी-बड़ी मशीनो में डालकर के पीसा जाता है। इस प्रकार पीसने के बाद यह सफेद रंग के पाउडर में प्राप्त होता है, जिसे पैक करके मार्केट में बेचने के लिए भेज दिया जाता है।

कॉर्नफ्लोर के उपयोग – Uses of Corn Flour

Corn Flour के निम्नलिखित उपयोग नीचे दिए गए हैं।

  • जो दुकानदार सूप बनाते हैं, वह सूप की ग्रेवी को मोटा करने के लिए या फिर उसकी थिकनेस को बढ़ाने के लिए कॉर्न फ्लोर को सुप में मिलाते हैं। इससे वह मोटा हो जाता है।
  • बता दे कि Corn Flour को दूध में भी मिलाया जाता है और ऐसा करने की वजह यह है कि जब दूध पतला होता है तो उसके अंदर एक निश्चित मात्रा कॉर्न फ्लोर की मिलाई जाती है। इससे दूध मोटा हो जाता है।
  • बच्चों की त्वचा के लिए जो बेबी पाउडर तैयार किया जाता है, उसे बनाने में कॉर्नस्टार्च को उपयोग में लिया जाता है।
  • कॉर्न फ्लोर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल चाइनीस फास्ट फूड जैसे कि चिल्ली पोटैटो, मंचूरियन, नूडल्स इत्यादि को बनाने के लिए किया जाता है।
  • विभिन्न प्रकार की चीजों में कॉर्न स्टार्च का इस्तेमाल एंटीकेकिंग एजेंट के तहत होता है।
  • कंडोम, डायाफ्राम और मेडिकल ग्लब्स को तैयार करने में भी कोर्न स्टार्च का इस्तेमाल होता है क्योंकि इसके अंदर लेटेकस मौजूद होता है।

कॉर्नफ्लोर के फायदे – Benefits of Corn Flour

Corn Flour के निम्नलिखित फायदे नीचे दिए गए हैं।

1. बता दें कि इसके अंदर ग्लूटेन की मात्रा बिल्कुल भी नहीं पाई जाती है और इसी कारण की वजह से ऐसे लोग इसका इस्तेमाल करते हैं जो सूजी मैदा या फिर गेहूं को काफी दिनों तक स्टोर करके रख पाने में असमर्थ होते हैं।

2. कॉर्नफ्लोर के अंदर पोलीफेनोल्स एंटी ऑक्सीडेंट नाम का एक तत्व पाया जाता है और अपने इसी गुण के कारण यह हमारी बॉडी में पैदा हो चुकी सूजन को कम करने का काम करता है। इस प्रकार सूजन को कम करने के लिए एक लिमिट में इसका सेवन किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : प्रोटीन पाउडर क्या होता है? प्रोटीन पाउडर के फायदे और नुकसान?

3. अगर किसी व्यक्ति को कब्ज की समस्या है तो वह इसका सेवन कर सकता है क्योंकि फाइबर इसमें अच्छी क्वांटिटी में मौजूद होता है। एक चम्मच अगर आप इसका सेवन करते हैं तो उसमें आपको 1 ग्राम फाइबर की प्राप्ति होती है। इस प्रकार कब्ज की समस्या से यह आपको निजात दिलाता है।

4. हमारी बॉडी में मसल्स की रिकवरी करने के लिए और बॉडी की ऑल ओवर ग्रोथ के लिए प्रोटीन की आवश्यकता ज्यादा होती है और प्रोटीन आपको इसमें से मिलता है

5. सैलूलोज, लिगनेन और एमिलॉस जैसे महत्वपूर्ण तत्व इसमें होते हैं जो हमारी बॉडी के डाइजेस्टिव सिस्टम को अच्छा बनाने का काम करते हैं, जिसके कारण हमारा खाना सही प्रकार से पच जाता है।

कॉर्नफ्लोर के नुकसान – Disadvantages of Corn Flour

हम बार-बार यह कहते हैं कि किसी भी चीज का एक लिमिट में सेवन करना फायदेमंद होता है। अगर आप उस लिमिट से आगे बढ़ते हैं तो आपको नुकसान हो सकता है। Corn Flour के निम्नलिखित नुकसान नीचे दिए गए हैं।

1. Corn Flour का मुख्य नुकसान यह है कि अगर आप इसका सेवन ज्यादा करते हैं तो इसके कारण आप मोटापे का शिकार हो सकते हैं, क्योंकि इसमें मोटापा बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं।

ये भी पढ़ें : ओट्स क्या होता है? ओट्स खाने के फायदे और नुकसान

2. इसके अलावा आजकल मार्केट में जो पैकेट में Corn Flour आते हैं उन्हें बनाने में हानिकारक केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। इसीलिए कॉर्न फ्लोर का सेवन तय मात्रा में ही करना चाहिए, वरना आप इसके आदि हो सकते हैं, जिसके कारण आपको विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

3. मुख्य तौर पर देखा जाए तो कॉर्नफ्लोर का अधिक सेवन करने के कारण व्यक्ति को फैटी लीवर, मोटापा, कैंसर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

कॉर्नफ्लोर में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients in Corn Flour

  • एनर्जी: 44 कैलोरीज
  • प्रोटीन: 1.1 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट: 9.1 ग्राम
  • फैट: 0.5 ग्राम
  • फाइबर: 1.2 ग्राम
  • विटामिन बी 1: (थियामाइन) 0.17 mg
  • विटामिन बी 2: (राइबोफ्लेविन) 0.09 mg
  • विटामिन बी 3: (नियासिन) 1.17 mg
  • फोलेट विटामिन बी: 9 27.9 एमसीजी
  • कैल्शियम: 16.9 mg
  • आयरन: 0.86 mg
  • मैग्नीशियम: 13.2 mg
  • फॉस्फोरस : 26.7 mg
  • जिंक: 0.22 mg
  • पोटैशियम: 35.7 mg

कॉर्नफ्लोर और कॉर्नस्टार्च के बीच अंतर – Difference Between Cornflour and Cornstarch

कई लोग कॉर्न फ्लोर और कॉर्नस्टार्च को लेकर के कन्फ्यूजन का सामना करते हैं, वैसे लोगों को हम बता दें कि जो मक्के का आटा होता है उसे कॉर्नमील कहकर बुलाया जाता है। वही कॉर्न स्टार्च दिखने में या तो हल्के पीले रंग का होता है या फिर हल्के सफेद रंग का होता है और यह आपको पिसे हुए पाउडर के फॉर्म में मार्केट में बिकता हुआ दिखाई देता है।

कॉर्न स्टार्च कैसे बनता है? – How is Corn Starch made

1. इसका निर्माण करने के लिए तकरीबन 5 घंटे के लिए आपको थोड़े से पानी में मक्के को डाल देना है।

2. 5 घंटे के बाद आपको सभी मक्के को पानी में से बाहर निकाल कर उसे अच्छी तरह से पीस लेना है।

3. पीसने के बाद आपको इसे छानकर के 10 मिनट तक किसी भी जगह पर छोड़ देना है।

4. अब आपको जो भी कचरा उसके अंदर मौजूद है उसे साफ करना है।

5. इसके बाद आपको एक कपड़े में इसे डाल करके इसे अच्छी तरह से छान लेना है और फिर आपको इसे पानी में डालकर के लगभग 20 मिनट तक छोड़ देना है।

6. अब जो भी पानी बचा हुआ है उसे आप को बाहर फेंक देना है।

7. अब आपको मक्के को निकाल कर के किसी ऐसी जगह पर रखना है जहां पर तेज धूप हो ताकि यह सुख सके।

8. अब आपको थोड़ा-थोड़ा करके इसे मिक्सर में डालकर के अच्छी तरह से पीस लेना है।

9. पीसने के बाद आपका कॉर्नफ्लोर बन करके तैयार हो जाएगा।

10. अब आपको इसे किसी प्लास्टिक के डिब्बे में बंद करके रख देना है। बता दे कि यह 3 महीने तक तक अच्छा रहेगा, उसके बाद खराब हो जाएगा।

कॉर्नफ्लोर को कैसे सुरक्षित रखें? – How to Keep Corn Flour Safe?

अगर आप यह चाहते हैं कि कॉर्न फ्लोर लंबे समय तक ऐसा ही रहे और आप लंबे समय तक इसका इस्तेमाल कर सके तो आपको किसी ऐसे डब्बे में इसे भरकर के रखना चाहिए जिसमें हवा का आवन जावन ना हो।

आपको यह भी देखना चाहिए कि इसके अंदर किसी भी प्रकार की नमी प्रवेश न करने पाए क्योंकि अगर आपका कॉर्न फ्लोर नमी के संपर्क में आता है तो इसके कारण वह खराब हो जाएगा।

ये भी पढ़ें : फेनुग्रीक क्या होता है? मेथी दाना के फायदे और नुकसान

आपने जिस किसी भी डब्बे में इसे डाल कर के रखा है जब भी आप उसे खोले तो इस बात का ध्यान रखें कि आप अपने हाथों को अच्छी तरह से साफ कर लें और अपने हाथों को सुखा ले वरना पानी गिरने के कारण यह खराब हो जाएगा। जहां तक हो सके तो आपको किसी चम्मच की सहायता से ही इसे बाहर निकालना चाहिए।

Corn Flour से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कॉर्न फ्लोर का दाम क्या है?

मार्केट में अलग-अलग ब्रांड के द्वारा इसे बेचा जाता है। इसीलिए इसका दाम भी अलग-अलग है।

Corn Flour को हिंदी में क्या कहते हैं?

मक्के का आटा

क्या कॉर्नफ्लोर डायबिटीज के लिए अच्छा है?

नहीं

क्या Corn Flour में ग्लूटेन की मात्रा है?

नहीं

क्या कॉर्न फ्लोर सेहत के लिए फायदेमंद है?

बिल्कुल है परंतु एक निश्चित लिमिट तक ही इसका सेवन किया जाए तब तक।

कॉर्नफ्लोर में कितना प्रोटीन पाया जाता है?

100 ग्राम कॉर्न फ्लोर में आपको 1.1 ग्राम प्रोटीन मिलता है।

कॉर्नफ्लोर दिखने में कैसा होता है?

यह दिखने में सफेद रंग का होता है और बहुत ही चिकनाहट इसके अंदर होती है। यह आपको पाउडर के फॉर्म में मिलता है।

क्या कॉर्नफ्लोर सेहत के लिए नुकसानदायक है?

इसके अधिक सेवन से आपको डायबिटीज, मोटापा, कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है।

कॉर्नफ्लोर से क्या-क्या बनता है?

टिक्की, कोफ्ता, मंचूरियन, फ्रेंच फ्राई, नूडल्स, वडापाव, छेना, मुंबई कराची हलवा, केक, कुकीज, पाई, पुडिंग, सॉस, स्टीव, सूप तथा अन्य

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की कॉर्नफ्लोर क्या होता है? और कॉर्नफ्लोर के फायदे और नुकसान? (Benefits and Disadvantages of Corn Flour in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Corn Flour Kya Hota Hai को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी। अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे।

अगर आपको हमारे द्वारा Corn Flour Kisko Kehte Hain पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment