पिताया फल क्या होता है? ड्रैगन फ्रूट के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है? जानिए Dragon Fruit Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे ड्रैगन फ्रूट के फायदे और नुकसान क्या है की पूरी जानकारी (Dragon Fruit in Hindi) के बारे में क्योंकि फलों के बारे में एक खास बात यह है कि इसे ऐसी अवस्था में भी इस्तेमाल किया जा सकता है, जब हम अनाज खाने की कंडीशन में ना हो, क्योंकि फल लिक्विड फॉर्म में होता है। इसलिए हम इसे आसानी के साथ सेवन कर सकते हैं। दुनिया में भगवान ने कई फलों का निर्माण किया है और हमें पता है कि अधिकतर फलों के नाम आप जानते ही होंगे, परंतु कुछ फल ऐसे भी होते हैं, जिनके नाम आपको शायद ही पता हो।

अगर हम यह कहें कि ड्रैगन फ्रूट नाम का भी एक फल होता है, तो आप कहेंगे नहीं ऐसा नहीं होता है परंतु वास्तव में ड्रैगन फ्रूट नाम का एक फल है और इसे ड्रैगन फ्रूट का नाम इसलिए दिया गया, क्योंकि इसका रंग ही कुछ ऐसा है। इस फल का इस्तेमाल हमारी बॉडी से संबंधित कई समस्याओं को दूर करने के लिए होता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Dragon Fruit Kya Hota Hai, ड्रैगन फ्रूट के फायदे, Dragon Fruit in Hindi, ड्रैगन फ्रूट के नुकसान, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

ड्रैगन फ्रूट (पिताया फल) क्या होता है? – What is Dragon Fruit in Hindi?

ड्रैगन फ्रूट के फायदे और नुकसान
Dragon Fruit In Hindi

भारत नहीं बल्कि दक्षिण अमेरिका में पिताया यानि ड्रैगन फ्रूट एक प्रकार का बेल पर लगने वाला फल माना जाता है और बात करें कि यह किस फैमिली से संबंध रखता है तो यह कैक्टेसिया फैमिली से जुड़ा हुआ है। अगर आपको कभी ड्रैगन फ्रूट को पास से देखने का मौका मिले तो आप यह पाएंगे कि यह दो प्रकार का होता है जिसमें कुछ में लाल गूदे होते हैं तो कुछ में सफेद गूदे होता है, जो छूने में चिपचिपा टाइप लगता है।

इसके गूदे काफी सुगंधित होते हैं, साथ ही साथ ड्रैगन फ्रूट के जो फूल होते हैं, वह भी अच्छी फ्रेगरेंस वाले होते हैं और उनकी खास बात यह है कि वह दिन में नहीं बल्कि रात के टाइम में ही खिलते हैं और सुबह आते आते वो झड़ जाते हैं। ड्रैगन फ्रूट के जरिए मुरब्बा, सलाद, जेली का निर्माण किया जाता है।

ड्रैगन फ्रूट के प्रकार – Types of Dragon Fruit

इसके मुख्य तौर पर दो प्रकार हैं जिनके नाम निम्नानुसार हैं।

  1. लाल गुदे वाले ड्रैगन फ्रूट
  2. सफेद गुदे वाले ड्रैगन फ्रूट

साउथ अमेरिका में तो इसकी पैदावार होती ही है परंतु इसकी बढ़ती हुई डिमांड को देखते हुए पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया, पटाया और क्वींसलैंड जैसे शहरों के लोग भी इसकी खेती करना चालू कर दिए हैं।

ड्रैगन फ्रूट के फायदे – Benefits of Dragon Fruit in Hindi

नीचे बताए अनुसार एडवांटेज अथवा बेनिफिट्स आपको ड्रैगन फ्रूट का सेवन करने पर मिलते हैं।

1. डायबिटीज में है फायदेमंद ड्रैगन फ्रूट

डायबिटीज की प्रॉब्लम में हमारी बॉडी के खून के अंदर चीनी की मात्रा ज्यादा हो जाती है जिसे शुगर बढ़ना भी कहा जाता है। इसे कम करने के लिए एंटी ऑक्सीडेंट, फ्लेवोनॉयड, फ्लोरिक एसिड, एस्कोरबिक एसिड और फाइबर से लैस ड्रैगन फ्रूट आपको खाना चाहिए। यह खून के अंदर मौजूद शुगर को कम करने में सहायक साबित होते हैं।

2. कैंसर के लिए ड्रैगन फ्रूट

ब्रेस्ट कैंसर की प्रॉब्लम में महिलाओं के ब्रेस्ट में कैंसर की कोशिकाएं जल्दी से बढ़ने लगती है। इन्हें कम करने के लिए एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी ऑक्सीडेंट और एंटीट्यूमर से भरपूर ड्रैगन फ्रूट को महिलाओं को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। यह कैंसर बढ़ाने वाली कोशिकाओं पर लगाम लगाने का काम करती हैं।

ये भी पढ़ें : अखरोट क्या होता है? अखरोट के फायदे, उपयोग और नुकसान

3. कोलेस्ट्रॉल में ड्रैगन फ्रूट

कोलेस्ट्रोल पर अगर समय रहते हुए लगाम नहीं लगाया जाता है तो यह आपका मोटापा अत्याधिक बढ़ा सकता है। इससे आपको मोटापे के साथ ही साथ अन्य प्रॉब्लम भी हो सकती है। इसे कम करने के लिए ड्रैगन फ्रूट आपको खाना चाहिए, क्योंकि इस पर नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की वेबसाइट ने रिसर्च की थी और उन्होंने यह पाया कि ड्रैगन फ्रूट कोलेस्ट्रॉल को कम करने में हेल्पफुल साबित होता है।

4. पेट की प्रॉब्लम के लिए ड्रैगन फ्रूट

अपने अंदर मौजूद प्रीबायोटिक गुण के कारण ड्रैगन फ्रूट हमारे पेट के अंदर हेल्थी बैक्टीरिया को छोड़ने का काम करता है। इससे गैस, कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। इसके अलावा बता दे कि इसमें पाया जाने वाला फाइबर और विटामिन सी भी पेट की अन्य प्रॉब्लम को दूर करने में सहायक साबित होता है।

5. गठिया में ड्रैगन फ्रूट के फायदे

यह एक ऐसी प्रॉब्लम होती है, जिसमें पीड़ित व्यक्ति को अपने जोड़ों में बहुत ज्यादा दर्द महसूस होता है। उसका उठना बैठना दूभर हो जाता है और वहां पर सूजन आ जाती है। इसे दूर करने के लिए एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर ड्रैगन फ्रूट को खाने के लिए कहा जाता है। यह गठिया की सूजन को कम करने में सहायक होता है परंतु यह तभी होगा जब आप इसका लंबे समय तक यूज़ करें।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए ड्रैगन फ्रूट

अगर रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी की इम्युनिटी पावर हमारी बॉडी में बढ़िया होती है, तो हमें जल्दी कोई बीमारी अपने कैद में नहीं ले पाती है और यह कमजोर होने पर बीमारी हमें अपनी गिरफ्त में ले लेती है। इसे मजबूत करने के लिए विटामिन सी से भरपूर ड्रैगन फ्रूट आपको खाना चाहिए। यह इम्यूनिटी को बूस्ट करता है।

7. डेंगू में ड्रैगन फ्रूट है फायदेमंद

डेंगू की बीमारी मच्छरों के काटने से होती है। इसे खत्म करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट और एंटीवायरल तथा फाइटोकेमिकल से भरपूर ड्रैगन फ्रूट के बीज का सेवन आपको करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : एप्सम साल्ट क्या होता है और कैसे काम करता है? एप्सम साल्ट के फायदे, उपयोग और नुकसान

8. भूख बढ़ाता है ड्रैगन फ्रूट

डाइजेस्टिव सिस्टम खराब होने पर हमें ज्यादा भूख नहीं लगती है। इससे हमारी बॉडी को पर्याप्त मात्रा में एनर्जी नहीं मिल पाती है और हमारी बॉडी दिन-ब-दिन कमजोर होती जाती है। इसे खत्म करने के लिए फाइबर और विटामिन B2 से भरपूर ड्रैगन फ्रूट आपको खाना चाहिए। यह कम भूख लगने की प्रॉब्लम को खत्म करता है।

9. दिमाग के लिए फायदेमंद है ड्रैगन फ्रूट

दिमाग हमारी बॉडी में एक ऐसा अंग होता है, जिसे स्वस्थ बनाए रखना आवश्यक होता है। दिमाग की गड़बड़ी के कारण कई बार व्यक्ति को मिर्गी और सर दर्द तथा अन्य प्रॉब्लम हो जाती है। इसे खत्म करने के लिए एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर ड्रैगन फ्रूट खाना चाहिए।

10. चेहरा सुंदर बनाए ड्रैगन फ्रूट

क्या आप जानते हैं कि चेहरे पर अगर आप ड्रैगन फ्रूट का फेस पैक लगाते हैं, तो यह सोरायसिस और एग्जिमा जैसी समस्याओं को चेहरे पर से खत्म करता है और यह होता इसलिए है, क्योंकि ड्रैगन फ्रूट का फेस पैक ऑर्गेनिक फेस पैक होता है, जिसके अंदर विटामिन B3 पाया जाता है, जो चेहरे की गंदगी को बाहर निकालता है और उसे नमी देता है।

ड्रैगन फ्रूट का उपयोग – Uses of Dragon Fruit in Hindi

नीचे दिए गए उपयोग ड्रैगन फ्रूट के होते हैं।

  • इसे डायरेक्ट खाने के लिए इस्तेमाल में ले सकते हैं।
  • ठंडा करके भी इसे यूज कर सकते हैं।
  • सलाद में डाल सकते हैं।
  • चाट में डाल सकते हैं।
  • मुरब्बा बना सकते हैं।
  • जेली बना सकते हैं।
  • कैंडी बना सकते हैं।
  • स्मूदी बना सकते हैं।

ड्रैगन फ्रूट खाने का तरीका – How to Eat Dragon Fruit in Hindi

नीचे हमने आपको किस प्रकार से आप ड्रैगन फ्रूट को इस्तेमाल में ले सकते हैं, इसकी जानकारी दी है।

  • आप इसे अन्य सलाद के साथ मिलाकर के खा सकते हैं।
  • चाहे तो आप इसका जूस बनाकर के भी पी सकते हैं।
  • चाट में डालने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • आप इसे सीधा भी खा सकते हैं।

ड्रैगन फ्रूट के नुकसान क्या है? – Side Effects of Dragon Fruit in Hindi

नीचे बताए गए साइड इफेक्ट अथवा डिसएडवांटेज ड्रैगन फ्रूट का सेवन करने पर किसी भी व्यक्ति को हो सकते हैं।

1. वजन घटाने में रुकावट

आपको बता दें कि ड्रैगन फ्रूट तो वैसे वजन घटाने के लिए इस्तेमाल में लिया जा सकता है परंतु एक बात यह भी बता दें कि अधिक चीनी इसके अंदर पाए जाने के कारण अगर आप ज्यादा इसे लेने लगते हैं, तो यह वजन कम करने के आपके सफर में रुकावट पैदा कर सकता है।

ये भी पढ़ें : योगर्ट क्या होता है? योगर्ट के फायदे, उपयोग और नुकसान

2. अन्य समस्याएं

ड्रैगन फ्रूट की खेती जब होती है तब इसके ऊपर हानिकारक कीटनाशक का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि ड्रैगन फ्रूट को कीड़े नुकसान न पहुंचा सकें। इसलिए जो बाहरी परत होती है, उसे आपको नहीं खाना चाहिए। उसमें हानिकारक बैक्टीरिया हो सकते हैं, जिससे आपको कुछ प्रॉब्लम हो सकती है।

ड्रैगन फ्रूट कहां से खरीदें?

अगर आप सामान्य लारी वाले के पास इसे लेने जाएंगे तो शायद ही आपको ड्रैगन फुट वहां पर मिले, क्योंकि वह लोग सिर्फ नॉर्मल फल फ्रूट ही रखते हैं। इसलिए ड्रैगन फ्रूट आपको किसी सुपर मार्केट में मिल सकता है या फिर आपको किसी फल फ्रूट रखने वाली बडी दुकान पर मिल सकता है।

ड्रैगन फ्रूट का वैज्ञानिक नाम क्या है? – Scientific Name of Dragon Fruit

इसका साइंटिफिक नाम हिलोकेरेस अंडटस है। इंडिया में आपको शायद ही किसी छोटे-मोटे फल वाले के पास यह मिले, क्योंकि अधिकतर लोग इसके नाम के बारे में जानते ही नहीं है और यही वजह है कि वह इसकी डिमांड नहीं करते हैं, जिसकी वजह से छोटे-मोटे लारी वाले इसे नहीं रखते हैं।

ड्रैगन फ्रूट का स्वाद कैसा होता है? – Taste of Dragon Fruit in Hindi

इसका टेस्ट आपको बिल्कुल वैसा ही लगता है जैसा टेस्ट आपको खरबूजा या फिर कीवी फल खाने पर प्राप्त होता है। हालांकि एक बात तो पक्की है कि कई लोगों ने यह कहा है कि एक बार ड्रैगन फ्रूट खा लेने पर हमें बार-बार इसे खाने की इच्छा होती है, क्योंकि इसका स्वाद हमारी जीभ को पसंद आ जाता है।

ये भी पढ़ें : अश्वगंधा क्या होता है? अश्वगंधा खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान

ड्रैगन फ्रूट का मूल क्या है? – Origin of Dragon Fruit

बता दे कि ड्रैगन फ्रूट सबसे पहली बार दक्षिण अमेरिका में पाया गया था, क्योंकि वही पर किसानों के द्वारा इसकी खेती की जाती थी परंतु जैसे-जैसे इसकी मार्केटिंग होती गई और लोगों को इसका टेस्ट पसंद आता गया, वैसे-वैसे लोग इसके बारे में जानने लगे। इसके बाद अन्य देशों में भी इसकी पैदावार की जाने लगी। हमारे इंडिया में भी कुछ इलाके ऐसे हैं, जहां पर इसकी खेती होती है।

ड्रैगन फ्रूट से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

ड्रैगन फ्रूट को हिंदी में क्या कहते हैं?

पिताया फल

ड्रैगन फ्रूट की कीमत क्या है?

इंडियन मार्केट में यह आपको ₹150 से लेकर ₹200 किलो में मिल जाता है।

ड्रैगन फ्रूट की तासीर कैसी होती है?

ठंडी

1 दिन में कितने ड्रैगन फ्रूट खा सकते हैं

500 ग्राम

भारत में ड्रैगन फ्रूट महंगा क्यो बिकता है?

क्योंकि इसकी खेती यहां पर कम होती है।

क्या हम ड्रैगन फ्रूट की बाहरी परत खा सकते हैं?

नहीं उसके ऊपर कीटनाशक का छिड़काव हुआ रहता है।

ड्रैगन फ्रूट खाली पेट खाया जा सकता है क्या?

हां

क्या हम ड्रैगन फ्रूट रोज खा सकते हैं?

हां

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की ड्रैगन फ्रूट क्या होता है? और ड्रैगन फ्रूट के फायदे और नुकसान? (Dragon Fruit in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Dragon Fruit Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Dragon Fruit in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment