ड्रमस्टिक क्या होता है? जानिए Drumstick (सहजन) के फायदे, नुकसान, प्रकार, उपयोग से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे ड्रमस्टिक के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Drumstick in Hindi) के बारे में क्योंकि अगर आप कभी दुकान पर हरी सब्जियां लेने के लिए गए होंगे तो आपको दुकान में एक ऐसी सब्जी दिखाई दी होगी जो लंबी होती है और अगर आप ने दुकानदार से उसका नाम पूछा होगा तो दुकानदार ने आपको कहा होगा कि वह सहजन है। बता दे कि सहजन ही वह सब्जी है जिसे अंग्रेजी लैंग्वेज में ड्रमस्टिक कहा जाता है। यह दिखने में लंबी लंबी होती है और इसका रंग हल्का हरा होता है।

हालांकि कुछ जगह पर जो पका हुआ सहजन होता है उसका रंग गहरा हरा होता है। अगर सही प्रकार से सहजन की सब्जी बनाई जाती है तो यह खाने में चिकन मटन के स्वाद को टक्कर देती है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Drumstick Kya Hota Hai, सहजन के फायदे, Drumstick in Hindi, सहजन के नुकसान, Drumstick meaning in Hindi, सहजन किसे कहते हैं, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

सहजन क्या होता है? – What is Drumstick in Hindi

Drumstick in Hindi
Drumstick in Hindi

सहजन को आप चाहे सब्जी कहें या फिर फली कहें बात एक ही है। सहजन को ही अंग्रेजी भाषा में Drumstick कहा जाता है। इस प्रकार से हम यह समझ सकते हैं कि सहजन का मीनिंग अंग्रेजी में Drumstick होता है। ड्रमस्टिक के अलावा इसका एक और भी नाम है। इसे Moringa कहकर भी बुलाया जाता है।

ड्रमस्टिक का मतलब क्या है? – Meaning of Drumstick in Hindi

ड्रमस्टिक यानी कि सहजन की सब्जी हमारे भारत में बड़े ही स्वाद के साथ खाई जाती है और आपको यह जानकर भी अत्यंत प्रसन्नता होगी कि हमारा भारत ही वह देश है जहां पर दुनिया भर में सबसे ज्यादा सहजन का प्रोडक्शन यानी की पैदावार होती है। सहजन की पैदावार काफी जल्दी हो जाती है क्योंकि इसकी जो बढ़ने की स्पीड होती है वह काफी तेज होती है।

ये भी पढ़ें : कॉर्नफ्लोर क्या होता है? कॉर्न फ्लोर के फायदे और नुकसान?

इंडिया में सहजन का इस्तेमाल खाने के लिए तो किया ही जाता है, इसके साथ ही साथ ही इसके जो फूल होते हैं और जो इसकी पत्तियां होती हैं वह भी इंसानों के खाने के काम में आती है। हमारे भारत देश के द्वारा हर साल 1.3 मिलियन टन सहजन की पैदावार की जाती है। यह पैदावार भारत के सभी राज्यों की मिलाकर के कुल पैदावार है।

सहजन के प्रकार – Types of Drumstick in Hindi

आयुर्वेद के नजरिए से देखा जाए तो ड्रमस्टिक के टोटल तीन प्रकार हैं जिनके नाम निम्नानुसार है।

  1. श्यामा (ब्लैक वेरिएशन)
  2. श्वेत (रेड वेरिएंट)
  3. रक्ता (वाइड वैरायटी)

सहजन के फायदे – Benefits of Drumstick

सहजन की सब्जी को स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें ठीक-ठाक मात्रा में मसाला मिलाया जाता है क्योंकि तभी यह सब्जी खाने में स्वादिष्ट लगती है। हालांकि आप यह बिल्कुल भी ना समझे कि मसाला मिला हुआ होने के कारण इसे खाने से हमें स्वास्थ्य से संबंधित फायदे प्राप्त नहीं होंगे। यह आपको स्वास्थ्य से संबंधित कई फायदे देती है। सहजन के कुछ प्रमुख स्वास्थ्य फायदे के बारे में हम नीचे डिस्कस कर रहे हैं।

1. मोटापा घटाती है

जो लोग अपने मोटापे की समस्या से परेशान हैं उन्हें ड्रमस्टिक को अपने भोजन में अवश्य शामिल करना चाहिए, क्योंकि इसे खाने पर वह अपने मोटापे को कुछ हद तक कंट्रोल कर सकते हैं और हम यह बात हवा-हवाई में नहीं कह रहे हैं। दरअसल बात यह है कि ड्रमस्टिक में क्लोरोजेनिक एसिड पाया जाता है। यह एक ऐसा एसिड होता है जो मोटापे को कंट्रोल करता है। इसलिए इसे anti-obesity एसिड भी कह कर बुलाया जाता है, तो इस प्रकार से मोटापा अगर आप घटाना चाहते हैं तो ड्रमस्टिक का सेवन करना चालू कर दें।

2. कैंसर के रिस्क को कम करें

एंटी कैंसर और एंटीट्यूमर यह दो ऐसे गुण हैं जो सहजन की छाल और इसकी पत्तियों में अवेलेबल होती हैं और अपने इसी गुण के कारण कैंसर के रोगियों के द्वारा भी सहजन का सेवन किया जाता है। इसके साथ ही आपको बता दें कि सहजन की जो पत्तियां होती हैं, उसमें पॉलिफिनॉल्स भी पाया जाता है, जो कैंसर के जोखिम को इंसानों की बॉडी में कम करने का काम करता है।

ये भी पढ़ें : प्रोटीन पाउडर क्या होता है? प्रोटीन पाउडर के फायदे और नुकसान?

3. डायबिटीज में भी है बेनिफिशियल

अगर आप एक ऐसे व्यक्ति हैं जो डायबिटीज के पेशेंट हैं या फिर आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं जो डायबिटीज की समस्या से परेशान हैं तो आपको खुद को या फिर उन्हें सहजन का सेवन अवश्य करना चाहिए, क्योंकि इसमें anti-diabetic गुण पाया जाता है और अपने इसी गुण के कारण यह डायबिटीज के लिए एक प्रकार से दुश्मन का काम करता है। बता दें कि अगर आप सहजन को खा नहीं सकते हैं तो मार्केट में सहजन की टेबलेट भी मिलती है, उसका सेवन आप चाहे तो कर सकते हैं। यह भी ठीक उसी प्रकार से काम करेगा जिस प्रकार ड्रमस्टिक की सब्जी काम करेगी।

4. हड्डियों को करता है स्ट्रांग

कमजोर हड्डियों वाले लोगों को सहजन को अपने खाने में अवश्य शामिल करना चाहिए क्योंकि सहजन की सब्जी खाने से फास्फोरस, कैल्शियम और मैग्नीशियम की प्राप्ति हमें होती है और यह तीनों ही चीजें कमजोर हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए एक प्रकार से वरदान साबित होती हैं।

5. एनीमिया में है लाभकारी

जब किसी इंसान की बॉडी में रेड ब्लड सेल्स की कमी हो जाती है तो धीरे-धीरे उसे एनीमिया नाम की बीमारी हो जाती है जिसके कारण उसे हमेशा थकान महसूस होने लगती है, साथ ही उसकी बॉडी में खून की कमी भी होने लगती है। बॉडी में खून की कमी को पूरा करने के लिए व्यक्ति चाहे तो सहजन का सेवन कर सकता है क्योंकि इसमें एथनॉलिक एक्सट्रैक्ट पाया जाता है जो इंसानों की बॉडी में हिमोग्लोबिन को बढ़ाता है, साथ ही रेड ब्लड सेल्स की संख्या को भी अधिक करने का काम करता है।

सहजन के नुकसान – Side Effects of Drumstick

वैसे तो सहजन खाना हमारे लिए फायदेमंद ही साबित होता है परंतु फिर भी कुछ ऐसी अवस्थाएं होती हैं जिनमें सहजन का सेवन करने के लिए मना किया जाता है। नीचे हम आपको सहजन खाने से कौन से नुकसान होते हैं या फिर ड्रमस्टिक खाने के साइड इफेक्ट क्या है, इसके बारे में बता रहे हैं।

अगर कोई महिला प्रेग्नेंट है तो उसे सहजन को अपने खाने में काफी कम ही शामिल करना चाहिए क्योंकि कुछ लोगों के अनुसार प्रेगनेंसी में अगर कोई महिला ज्यादा सहजन का सेवन करती है तो उसका बच्चा गिर सकता है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को यह सलाह दी जाती है कि वह प्रेगनेंसी में सहजन ना खाएं और अगर खाने का ज्यादा ही मन करे तो सबसे पहले डॉक्टर से इसके बारे में पूछ लें।

ये भी पढ़ें : ओट्स क्या होता है? ओट्स खाने के फायदे और नुकसान

ऐसे लोग जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से परेशान होते हैं उनके लिए यह बढ़िया माना जाता है परंतु जो लोग लो ब्लड प्रेशर की समस्या से परेशान हैं उन्हें इसे नहीं खाना चाहिए।

डायबिटीज के लिए यह अच्छा माना जाता है परंतु अगर कोई ज्यादा ही सहजन खाना चालू कर देता है तो इससे उसकी बॉडी में ब्लड ग्लूकोस का जो लेवल होता है, उसमें गिरावट देखी जा सकती है।

सहजन पत्तियों के उपयोग – Drumstick Leaves Uses

अगर आपके चेहरे पर झुर्रियां आ गई है तो आप सहजन की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं क्योंकि यह चेहरे पर पैदा हो चुकी झुर्रियों को धीरे-धीरे कम करने का काम करती है। आप चाहे तो इसकी पत्तियों को पीसकर के अपने चेहरे पर फेस मास्क के तहत भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह भी झुर्रियों को कम करने का काम करती है।

ये भी पढ़ें : फेनुग्रीक क्या होता है? मेथी दाना के फायदे और नुकसान

सहजन की पत्तियों में एंटी बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण पाए जाते हैं। इसीलिए कील मुंहासे को भी यह कम करती है। कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले लोग सहजन की पत्तियों का सेवन अगर करते हैं तो इससे उनकी इम्यूनिटी पावर बूस्ट होती है। सहजन की जो पत्तियां होती है यह हमारे लिवर को हानिकारक बीमारियों से बचाने का काम भी करती है।

ड्रमस्टिक के पोषक तत्व – Drumstick Nutrition

नीचे आपको उन सभी पोषक तत्वों के बारे में जानकारी दी जा रही है जो ड्रमस्टिक को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद बनाते हैं।

  • पानी: 88.2 ग्राम
  • एनर्जी: 37 केसीएल
  • प्रोटीन: 2.1 ग्राम
  • टोटल लिपिड (फैट): 0.2 ग्राम
  • ऐश: 0.97 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट, बाय डिफरेंस: 8.53 ग्राम
  • फाइबर, टोटल डाइटरी: 3.2 ग्राम
  • कैल्शियम: 30 मिलीग्राम
  • आयरन: 0.36 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम: 45 मिलीग्राम
  • फास्फोरस :50 मिलीग्राम
  • पोटैशियम: 461 मिलीग्राम
  • सोडियम: 42 मिलीग्राम
  • जिंक: 0.45 मिलीग्राम
  • कॉपर: 0.084 मिलीग्राम
  • मैंगनीज: 0.259 मिलीग्राम
  • सेलेनियम: 0.7 माइक्रोग्राम
  • विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड: 141 मिलीग्राम
  • थायमिन: 0.053 मिलीग्राम
  • राइबोफ्लेविन :0.074 मिलीग्राम
  • नियासिन: 0.62 मिलीग्राम
  • पैंटोथैनिक एसिड: 0.794 मिलीग्राम
  • विटामिन बी-6: 0.12 मिलीग्राम
  • फोलेट, टोटल :44 माइक्रोग्राम
  • फोलेट, फूड: 44 माइक्रोग्राम
  • फोलेट, डीएफई: 44 माइक्रोग्राम
  • विटामिन ए, आरएई: 4 माइक्रोग्राम
  • विटामिन ए, आईयू: 74 आईयू(IU)
  • फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड: 0.033 ग्राम
  • फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड: 0.102 ग्राम
  • फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड: 0.003 ग्राम

सहजन फूल के फायदे – Benefits of Drumstick Leaves in Hindi

जिस प्रकार से सहजन की सब्जी खाने से हमें कई फायदे होते हैं और जिस प्रकार ड्रमस्टिक की पत्तियां खाने से हमें कई फायदे प्राप्त होते हैं, उसी प्रकार ड्रमस्टिक फुल खाने से भी हमें कई फायदे प्राप्त होते हैं। ऊपर हमने आपको ड्रमस्टिक की पत्तियां खाने से जो फायदे होते हैं उनके बारे में जानकारी दी है, वही सारे फायदे आपको ड्रमस्टिक फूल खाने से भी होते हैं क्योंकि ड्रमस्टिक की फली, फूल और पत्तियां तीनों ही विभिन्न प्रकार से हमारी बॉडी के लिए लाभकारी साबित होती है।

सहजन का उपयोग – Uses of Drumstick

इंडिया में अधिकतर घरों में ड्रमस्टिक का इस्तेमाल सब्जी के तौर पर ही किया जाता है। इसलिए आप इसकी स्वादिष्ट सब्जी बना करके खा सकते हैं। बता दे कि सहजन की स्वादिष्ट सब्जी तभी बनती है जब आप इसमें मसाला की मात्रा अच्छी डालते हैं।

सहजन की फली के अलावा आप सहजन की पत्तियों का भी इस्तेमाल सब्जी बनाने के लिए कर सकते हैं। इसके अलावा यह भी बता दें कि सांभर में आप सहजन की पत्ती को प्रयोग में ले सकते हैं।

सहजन का सुप भी बनाया जाता है और इसके लिए सहजन को काट कर के सुप तैयार किया जाता है।

सहजन आपको कैप्सूल के फॉर्म में भी मिल जाती है। इसलिए किसी विशेष बीमारी के इलाज के लिए आप सहजन की कैप्सूल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Drumstick tree (सहजन) से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

ड्रमस्टिक का वैज्ञानिक नाम क्या है?

ड्रमस्टिक को हमारे भारत देश में सामान्य इंसान इसे सहजन के नाम से ही बुलाता है। बात करें अगर इसके वानस्पतिक नाम की तो इसे मोरिंगा ओलिफेरा कहकर बुलाया है।

सहजन का दूसरा नाम क्या है?

मोरिंगा ओलिफेरा

ड्रमस्टिक को हिंदी में क्या कहते हैं?

सहजन

सहजन के पत्ते का सेवन कैसे करें?

आप सहजन के पत्ते को एक बार में सात से आठ खा सकते हैं।

सहजन का पेड़ कितना बड़ा होता है?

10 मीटर ऊंचा

सहजन का फल कैसे होता है?

इसका फल लंबा, पतला होता है और सफेद रंग का होता है।

सहजन का पौधा कैसे लगाएं?

आप इसे कलम करके लगा सकते हैं या फिर नर्सरी से ला करके लगा सकते हैं।

सहजन का पौधा कितने दिन में फल देता है?

130 दिन से लेकर के 140 दिन के बाद।

सहजन के पत्ते का काढ़ा पीने से क्या होता है?

इंसुलिन का लेवल बढ़ता है।

सहजन के पत्ते का जूस कैसे बनाएं?

पानी में धोने के बाद आप इसे मिक्सर में पीस सकते हैं। ऐसा करने पर जूस तैयार हो जाएगा।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की ड्रमस्टिक क्या होता है? और Drumstick (सहजन) के फायदे और नुकसान (Drumstick in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Drumstick Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Drumstick in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment