एप्सम साल्ट क्या होता है और कैसे काम करता है? एप्सम साल्ट के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है? जानिए Epsom Salt Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे एप्सम साल्ट के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Epsom Salt in Hindi) के बारे में क्योंकि अगर आपकी माताजी ने कभी व्रत रखा होगा और उन्होंने शाम को व्रत तोड़ने के दरमियान जो भोजन बनाया होगा, उसमें डालने के लिए आपसे कहा होगा कि बेटा जाकर के दुकान से Epsom Salt लेकर के आओ तो आप यह सोच में पड़ गए होंगे कि, यह एप्सम साल्ट क्या होता है। बता दे कि उपवास में आम नमक का इस्तेमाल नहीं किया जाता है, बल्कि उसकी जगह पर जिस नमक का इस्तेमाल किया जाता है, उसे ही एप्सम साल्ट कहा जाता है।

अगर आपको अभी भी नहीं पता चला है कि एप्सम साल्ट क्या होता है, तो बता दे कि एप्सम साल्ट मतलब सेंधा नमक ही होता है, जो अधिकतर व्रत करने के दरमियान महिलाओं के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि इसके अन्य कई भी इस्तेमाल है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Epsom Salt Kya Hota Hai, एप्सम साल्ट के फायदे, Epsom Salt in Hindi, एप्सम साल्ट के नुकसान, Epsom Salt meaning in Hindi, एप्सम साल्ट का उपयोग, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

एप्सम साल्ट क्या होता है? – What is Epsom Salt in Hindi

Epsom Salt In Hindi
Epsom Salt In Hindi

सबसे पहले तो हम आपका यह डाउट क्लियर कर देते हैं कि अगर आप यह समझते हैं कि यह काला नमक और सेंधा नमक होता है तो नहीं यह इन दोनों से बिल्कुल अलग होता है। एप्सम साल्ट एक प्रकार का मिनरल है, जोकि सल्फर और कैल्शियम को आपस में मिलाकर के बनाया जाता है। इसके सेंटिफिक नाम की बात करें तो इसका वानस्पतिक नाम मैग्नीशियम सल्फेट होता है।

आप यह जानते होंगे कि इंग्लैंड में एक शहर भी है, जिसका नाम एप्सम है‌। यहां पर मैग्नीशियम सल्फेट की अच्छी मात्रा प्राकृतिक तौर पर पानी में पाई जाती है। यही वजह है कि इसी शहर के ऊपर इसका नाम एप्सम साल्ट रखा गया है। जैसे ही आप इसे पानी में डालते हैं वैसे ही सल्फेट और मैग्निशियम आयन को यह रिलीज करता है।

एप्सम साल्ट कैसे काम करता है?

जैसे ही हम पानी के अंदर Epsom Salt को डालते हैं वैसे ही यह तुरंत ही एक्टिव हो जाता है और एक्टिव होने के बाद एप्सम साल्ट सल्फेट आयन और मैग्नीशियम को बाहर निकालता है। एप्सम साल्ट के बारे में कई लोगों ने यह कहा है कि यह बॉडी की कुछ ऐसी परेशानियों को दूर करने का काम करता है, जिसके लिए लोग हजारों रुपए खर्च कर देते हैं।

एप्सम साल्ट के फायदे – Benefits of Epsom Salt in Hindi

नीचे हमने उन सभी एडवांटेज को मेंशन किया हुआ है जो एप्सम साल्ट को खाने से अथवा किसी भी प्रकार से इसका सेवन करने से हमें मिलते हैं।

1. टेंशन कम करें एप्सम साल्ट (Reduce Stress Epsom Salt)

टेंशन कम करने के लिए आपको एप्सम साल्ट की फ्लोटेशन थेरेपी लेनी होती है। इस तरीके के अंदर आपको एक ऐसे टैंक में जाने के लिए कहा जाता है जिसमें हल्का गर्म पानी होता है और उसमें Epsom Salt लिमिटेड मात्रा में मिलाया गया होता है। इसी पानी में कुछ देर तक आपको बैठे रहना पड़ता है। कई लोगों ने यह कहा है कि ऐसा करने से कुछ देर के लिए चिंता चली जाती है। हालांकि लोगों ने यह भी कहा है कि, हफ्ते में आपको 2 से 3 बार यह करना चाहिए।

2. पैर दर्द को ठीक करें एप्सम साल्ट

अगर आपकी मांसपेशियों में दर्द हो रहा है या फिर आपके पैरों में दर्द हो रहा है तो सबसे पहले एक पतीले में पानी गर्म करें और उसके अंदर Epsom Salt डाल दे। अब अपने दोनों पैरों को हल्का गुनगुना हो जाने पर पतीले में डालें। यह क्रिया 3 से 4 मिनट के अंदर आपके पैरों को आराम देना चालू कर देगी और उसके दर्द को भी गायब करने का काम करेगी।

ये भी पढ़ें : योगर्ट क्या होता है? योगर्ट के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है? 

3. डायबिटीज कंट्रोल करें एप्सम साल्ट

इस बारे में अभी आगे शोध होना बाकी है परंतु ऐसा कहा जाता है कि डायबिटीज पेशेंट को एप्सम साल्ट का सेवन करना चाहिए, क्योंकि यह डायबिटीज के खतरे को बढ़ाने वाले कारकों पर कंट्रोल करने का काम करता है।

4. कब्ज दूर करें एप्सम साल्ट

लैक्सेटिव गुण भी इसके अंदर काफी अच्छी मात्रा में मौजूद होता है जो कब्ज यानी की खाने का ना पचना जैसी समस्या को दूर करने का काम करता है।

5. सूजन कम करें एप्सम साल्ट

अगर आपके हाथ में/ पैरों में सूजन हो गई है, तो एक पतीले में पानी गर्म करें और उसके अंदर लिमिटेड मात्रा में एप्सम साल्ट डालें। अब हल्का गर्म हो जाने पर जहां पर सूजन है, वहां पर इस गर्म पानी को लगाए या उस अंग को पानी में डुबोकर रखें। 30 मिनट तक आपको लगातार ऐसा करना है। ऐसा करने से त्वचा की सूजन धीरे धीरे कम होना चालू हो जाती है।

6. पाचन अच्छा करें एप्सम साल्ट

जब आप एप्सम साल्ट को खाते हैं तो यह पेट में जाने के बाद डाइजेस्टिव हार्मोन को बाहर निकालने का काम करता है, जो कि खाने को पचाने के लिए बढ़िया माना जाता है। इसलिए कहा जाता है कि हल्के गुनगुने पानी के साथ एप्सम साल्ट को मिलाकर के खाना खाने के बाद सेवन करना चाहिए।

7. सर दर्द दूर करें Epsom Salt

मैग्नीशियम की कमी हो जाने पर ही माइग्रेन की समस्या बॉडी मे पैदा होती है जिसे दूर करने के लिए एप्सम साल्ट को इस्तेमाल में लिया जा सकता है। यह बॉडी में मैग्नीशियम की कमी को पूरा करता है। इससे सर दर्द काफी कम होता है अथवा होता ही नहीं है।

ये भी पढ़ें : अश्वगंधा क्या होता है? अश्वगंधा खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है?

8. दर्द से राहत पहुंचाए एप्सम साल्ट

अगर पेट में गैस बनने के कारण आपको पेट में दर्द हो रहा है, तो हलके गर्म पानी के साथ एप्सम साल्ट को मिला करके पी जाएं। लगातार 4 से 5 दिन यह उपाय करें। फिर देखें कैसे आपके पेट की गैस छूमंतर हो जाती है और पेट के गैस का दर्द भी गायब हो जाता है।

9. स्किन के लिए फायदेमंद है एप्सम साल्ट

चेहरे की सफाई करने के लिए भी आप Epsom Salt को इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए इसे सबसे पहले पानी में मिक्स कर लें और फिर रुई की सहायता से इसे अपने चेहरे पर लगाएं। यह चेहरे की गंदगी को काटने का काम करता है और तेल को भी बाहर निकालता है।

10. बालों को स्ट्रांग बनाएं एप्सम साल्ट

मैग्नीशियम एक प्रकार का मिनरल होता है।‌इसलिए अगर आप इसे अपने बालों पर लगाते हैं तो यह बालों की जड़ों को मजबूत करता है।

11. पौधों के लिए फायदेमंद है एप्सम साल्ट

एप्सम साल्ट पौधों को जल्दी से बढ़ाने के लिए पोषण देता है, साथ ही यह पौधों पर लगने वाले कुछ छोटे-मोटे कीड़ों को भी दूर भगाता है और पौधे के बीज को मजबूत करने का काम करता है। इसके अलावा पौधों में एप्सम साल्ट वाला पानी डालने से यह जल्दी फूल लाने में भी सहायक होता है।

ये भी पढ़ें : मखाना क्या होता है? मखाना खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है?

12. बवासीर में लाभकारी है एप्सम साल्ट

बवासीर में जो जलन होती है उसे आप शांत करने के लिए एप्सम साल्ट वाले पानी में बैठ सकते हैं। इसके लिए आपको 1 बाल्टी पानी गर्म करना है और उसे थोड़े सामान्य पानी के साथ एक बाथ टब में डालना है। अब आपको पूरा नंगा होकर के उसमें बैठना है। यह बवासीर की जलन को शांत करता है।

एप्सम साल्ट का उपयोग – Uses of Epsom Salt in Hindi

  • पैरों के दर्द को दूर करने के लिए गर्म पानी में इसे मिला करके उसके अंदर पैर डाल करके बैठ सकते हैं।
  • व्रत में खाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसे हल्दी के साथ मिलाकर के चेहरे पर लगा सकते हैं।
  • सरसों के तेल के साथ इसे मिलाकर के दातों को साफ कर सकते हैं, ताकि वह सफेद बन सके।
  • गैस की प्रॉब्लम को इसके जरिए दूर कर सकते हैं।

एप्सम सॉल्ट को लंबे समय तक कैसे सुरक्षित रखें?

इसे लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए आपको किसी ऐसे डब्बे में इसे डाल कर रखना है जिसमें हवा बिल्कुल भी ना जा सके। अगर किसी भी प्रकार से डब्बे में हवा चली गई तो इसमें नमी चली जाएगी, जिससे यह खराब हो सकता है। बेहतर होगा कि आप इसे कांच वाले किसी डब्बे में डाल करके रखें।

एप्सम साल्ट कहां से खरीदें? – Where to Buy Epsom Salt?

एप्सम साल्ट आसानी से आपको किसी भी किराना की दुकान पर मिल जाएगा। अगर वहां पर आपको यह नहीं मिलता है तो आजकल मेडिकल स्टोर वाले भी इसे रखने लगे हैं। इसके अलावा आप ऑनलाइन भी इसे बुक करके मंगा सकते हैं। हालांकि ऑनलाइन बुक करके मंगाने पर आपको इसका ज्यादा आर्डर देना होगा। यह एक बहुत ही सामान्य नमक है जो आपको छोटी मोटी हर दुकान पर मिल जाएगा।

एप्सम साल्ट के नुकसान – Side Effects of Epsom Salt bath

नीचे हमने कुछ ऐसे पॉसिबल साइड इफेक्ट इस नमक के आपको बताए हैं, जो हो सकते हैं।

1. डायबिटीज पेशेंट के लिए

जो लोग शुगर की बीमारी से परेशान है उन्हें एप्सम पानी में अपने पैर को लंबे समय तक डुबोकर के नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से उन्हें कुछ साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ सकता है। अगर उन्हें ऐसा करने की इच्छा तो डॉक्टर से अवश्य पूछ ले।

2. डायरिया की प्रॉब्लम

यह बात तो आप जानते हैं कि जिन पदार्थों में लैक्सेटिव गुण पाया जाता है उनका ज्यादा सेवन करने पर डायरिया हो सकता है और यह गुण एप्सम साल्ट में है।

ये भी पढ़ें : पीनट बटर क्या होता है? पीनट बटर खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या है?

3. गर्भवती महिलाएं

जिन महिलाओं के पेट में बच्चा है अथवा जो जल्दी ही बच्चे को जन्म देने वाली है उन्हें डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद ही एप्सम साल्ट का इस्तेमाल करना चाहिए।

बाग बगीचे में एप्सम साल्ट कैसे इस्तेमाल करें? – How to use Epsom Salt for Plants in Hindi

बाग बगीचे में पौधों को पोषण देने के लिए सबसे पहले आप पानी को उबाल लें और ठंडा हो जाने पर उसमें आवश्यकतानुसार एप्सम साल्ट मिला दें और उसे अच्छी तरह से मिक्स कर ले। अब स्प्रे मशीन में इस घोल को भर ले और बाग बगीचे में मौजूद पौधों के ऊपर इसका छिड़काव करें।

एप्सम साल्ट से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Epsom Salt का वैज्ञानिक नाम क्या है?

मैग्नीशियम सल्फेट

एप्सम साल्ट पौधों में किस तरह काम करता है

खाद की तरह

एप्सम साल्ट कहां मिलता है?

हर पंसारी की दुकान पर

एप्सम साल्ट का विकल्प क्या है?

काला नमक

एप्सम साल्ट ज्यादा खाने पर क्या होता है?

डायरिया, उल्टी

क्या लंबे समय तक एप्सम साल्ट वाले पानी में पैर भिगो कर रखे जा सकते हैं?

नहीं

क्या एप्सम साल्ट वाला पानी हम पी सकते हैं?

हां

एप्सम साल्ट में आयोडीन होता है क्या?

नहीं

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की एप्सम साल्ट क्या होता है? और एप्सम साल्ट के फायदे और नुकसान? (Epsom Salt in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Epsom Salt Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Epsom Salt in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment