फ्लेक्स सीड क्या होता है? अलसी के फायदे, प्रकार, उपयोग, और नुकसान? जानिए Flaxseed Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे अलसी के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Flaxseeds in Hindi) के बारे में क्योंकि हमारी बॉडी तभी बीमारियों की गिरफ्त में आती है जब हम अपनी बॉडी को पोषक तत्व नहीं देते हैं। वैसे तो हम यह जानते हैं कि हम जो खाना खाते हैं उसमें से कुछ ना कुछ पोस्टिक तत्व हमारी बॉडी को लगते हैं परंतु क्या आप जानते हैं कि यह तभी होता है जब खाने का पाचन सही से हो।

खाने का पाचन सही से हो इसके लिए आप कोई आयुर्वेदिक चूर्ण ट्राई कर सकते हैं परंतु यहां पर हम बात करने वाले हैं एक ऐसी वस्तु के बारे में जो है तो छोटी सी परंतु इसके कमाल बहुत ही बड़े हैं। कहने का मतलब है कि इसके फायदे काफी शानदार है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Flaxseed Kya Hota Hai, अलसी के फायदे, Flaxseed in Hindi, अलसी के नुकसान, Flaxseed meaning in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

अलसी क्या होता है? – What is Flax Seeds in Hindi

Flaxseeds In Hindi
Flaxseeds In Hindi

हमारे इंडिया में ऐसी जगह पर काफी ज्यादा Flaxseed की खेती की जाती है, जहां का मौसम गर्मी या फिर ठंड के मौसम में एक प्रकार का ही होता है। बता दें कि, Flaxseed को हिंदी में अलसी कहकर बुलाया जाता है, तो इस प्रकार से अब आपको यह पता चल गया होगा कि Flaxseed क्या होता है।

Flaxseed डिफरेंट प्रकार से हमारे लिए उपयोगी साबित होता है। जैसे कि इसका जो बीज होता है उसका इस्तेमाल तेल निकालने के लिए अथवा तेल बनाने के लिए किया जाता है जो बहुत ही मोटा होता है। इंडिया के अलावा अमेरिका और अर्जेंटीना ऐसे देश है जहां पर किसानों के द्वारा अलसी की फसल की खेती काफी भारी मात्रा में की जाती है।

अलसी की डिमांड मार्केट में इसलिए भी ज्यादा होती है क्योंकि इसमें काफी अच्छी मात्रा में पौष्टिक तत्व उपलब्ध होते हैं। अलसी को भारतीय आयुर्वेदिक ग्रंथों में एक कारगर और किफायती औषधि का नाम दिया गया है।

फ्लेक्स सीड का हिंदी में क्या मतलब है? – Flaxseed meaning in Hindi

हिंदी लैंग्वेज में Flaxseed को अलसी का बीज कहा जाता है और अंग्रेजी लैंग्वेज में अलसी के बीज को Flaxseed कहा जाता है। इस प्रकार से अब हम यह समझ सकते हैं कि आपकी यह कंफ्यूजन अब दूर हो गई होगी कि Flaxseed को हिंदी में अथवा अंग्रेजी में क्या कह कर बुलाया जाता है।

यह जो Flaxseed होता है, इसकी गिनती रेशेदार पौधे की कैटेगरी में होती है और इसके रेशे का इस्तेमाल करके रस्सी तो बनाई ही जाती है साथ ही पतली डोरी और मोटे कपड़े भी इसके जरिए तैयार किए जाते हैं। Flaxseed को हिंदी में अलसी के अलावा तिसी के नाम से भी जाना जाता है।

अलसी के प्रकार – Types of Flaxseeds in Hindi

मार्केट में अलसी दो प्रकार की मिलती है।

  1. भूरी अलसी
  2. सुनहरी अलसी

इसमें से जो भूरी अलसी है उसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड अच्छी मात्रा में उपलब्ध है और जो सुनहरी अलसी है उसमें यह थोड़ा सा कम होता है।

अलसी के उपयोग – Uses of Flaxseed in Hindi

कई लोग अलसी के फायदे के बारे में जानने के बाद इसके बीजों को खाते हैं। हालांकि कमजोर पाचन तंत्र होने के कारण उसका पाचन सही से नहीं होता है और टॉयलेट के माध्यम से अलसी के बीच खड़े खड़े ही बाहर निकल जाते हैं। हालांकि ऐसी सिचुएशन में आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि अलसी को इस्तेमाल करने का अन्य तरीका क्या है यह भी हम आपको बता रहे हैं, ताकि आपको इसका पूरा पूरा फायदा मिले।

  • अलसी के बीज को पीसकर के इसके पाउडर को खा सकते हैं।
  • चाहे तो आप गर्म पानी के अंदर अलसी के थोड़े बीज को डाल सकते हैं और फिर ठंडा करके इसे खा सकते हैं। ऐसा करने पर यह सही से पच जाएगा।
  • डॉक्टर के अनुसार अलसी खाने के बाद अधिक से अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है।
  • सुबह के नाश्ते में भी आप इसे खा सकते हैं या फिर आप सलाद के अंदर भी इसे मिक्स करके अपने उपयोग में ले सकते हैं।
  • दूध और दलिया यह दोनों चीजें अलसी के साथ आप ट्राई कर सकते हैं।

अलसी कब और कैसे खाना चाहिए? – When and How to Eat Flaxseed

आयुर्वेदिक नजरिए से देखा जाए साथ ही मेडिकल साइंस के नजरिए से भी देखा जाए तो किसी भी चीज का पूरा फायदा लेने के लिए उस चीज को सुबह के समय में खाने की सलाह दी जाती है, तो इस प्रकार से अगर आप Flaxseed यानी कि अलसी के बीजों का सेवन करना चाहते हैं तो इसके लिए मॉर्निंग का टाइम उत्तम माना गया है।

ये भी पढ़ें :

मॉर्निंग के टाइम में अलसी के बीज को खाने के लिए आपको रात में अलसी के बीजों को पानी में भिगो देना चाहिए और सुबह उठने के बाद आपको इसे या तो सलाद के साथ खाना चाहिए या फिर आप इसके पेस्ट को किसी अन्य चीज के साथ मिलाकर के खा सकते हैं। अगर आप इसका पाउडर खाना चाहते हैं तो इसे पिस करके इसका पाउडर बना लें और सुबह उठने के बाद 4 पांच चम्मच दूध के साथ इस पाउडर का सेवन करें।

अलसी के फायदे – Benefits of Flaxseed in Hindi

अलसी में प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट शुगर कैल्शियम फास्फोरस के साथ ही साथ अन्य कई पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं। इसीलिए लोग इसे खाने के बारे में सोचते हैं। इसीलिए वह यह जानना चाहते हैं कि अलसी खाने से कौन से फायदे होते हैं तो नीचे आपको Flaxseed खाने के एडवांटेज बताए जा रहे हैं।

1. वजन घटाने मे अलसी के फायदे

बढ़े हुए वजन को अलसी में पाया जाने वाला डाइटरी फाइबर नाम का तत्व घटाने का काम करता है और हम यह बात सिर्फ ऐसे ही नहीं कह रहे हैं बल्कि इस पर नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन ने रिसर्च की है और उन्होंने ही कहा है कि जो लोग अपने बढ़े हुए वजन से परेशान हैं और कोई कारगर तरीका वजन को कम करने के लिए ढूंढ रहे हैं।

ये भी पढ़ें : Peach Fruit क्या होता है? आड़ू के फायदे, नुकसान और उपयोग 

उन्हें अलसी का सेवन करना चालू कर देना चाहिए क्योंकि जो डाइटरी फाइबर इसके अंदर पाया जाता है वह सीधा शरीर में जो ज्यादा चर्बी जम गई है उसे गलाने का काम करता है और जब चर्बी गलती है तो वजन कम होना स्वभाविक है।

2. पाचन सकती मे अलसी के फायदे

जब हमें कब्ज हो जाती है तो हम जो भी खाना खाते हैं वह वैसा का वैसा ही पेट में धरा रह जाता है जैसा कि वह पहले होता है और जब खाने का पाचन नहीं होता है तो कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है।

इसके साथ ही एसिडिटी और गैस की समस्या भी हमारे पेट में बन जाती है। इसे दूर करने के लिए अलसी में पाया जाने वाला फाइबर हमारे लिए सहायक साबित होता है, तो अगर किसी व्यक्ति को कब्ज की समस्या है तो उन्हें अपने भोजन में अलसी को अवश्य शामिल करना चाहिए।

3. त्वचा को अच्छा बनाए अलसी के बीज

वैसे तो त्वचा से संबंधित अलसी के फायदे के बारे में कोई रिसर्च नहीं की गई है परंतु कुछ लोगों ने अलसी का सेवन किया है और उनकी मुंह जुबानी के अनुसार अलसी ऐसी त्वचा के लिए फायदेमंद मानी जाती है जो रूखी सूखी होती है। यह बेजान त्वचा में नई जान फूंकती है और उनकी ब्राइटनेस को बढ़ाने का काम करती है। इसके साथ ही स्किन को नरम बनाने के लिए भी अलसी का सेवन कुछ लोगों के अनुसार किया जा सकता है।

4. बालों के लिए अलसी के फायदे

अपने बालों को स्वस्थ बनाने के लिए आपको अलसी के बीज का नहीं बल्कि अलसी के बीजों के द्वारा बनाए गए तेल का इस्तेमाल करना है। कुछ रिसर्च में इस बात को पाया गया है कि अगर कोई व्यक्ति बालों के झड़ने की समस्या से परेशान हैं या फिर उसके सर पर बालों की ऊगने की स्पीड धीमी है तो अलसी का तेल लगाना लाभकारी साबित हो सकता है। अलसी का तेल लगाने से बालों के झड़ने की समस्या बंद होती है और वह स्ट्रांग हो करके काफी तेजी के साथ बढ़ते हैं।

ये भी पढ़ें : Almond क्या होता है? बादाम के फायदे और नुकसान?

5. पेट की सूजन में अलसी के फायदे

पेट की सूजन को अंग्रेजी भाषा में गैस्ट्राइटिस कहा जाता है और जो इस समस्या से परेशान होते हैं उन्हें डॉक्टर के द्वारा ओमेगा 3 से भरपूर चीजों को खाने की सलाह दी जाती है और आपको यह जानकर काफी प्रसन्नता होगी कि ओमेगा 3 अलसी में होता है, तो अगर आप या फिर वह व्यक्ति जो पेट की सूजन की समस्या से परेशान हैं वह अलसी को अपने खाने में ऐड कर सकते हैं फिर चाहे वह इसके बीजों का सेवन करें या फिर इसके पाउडर का सेवन करें।

अलसी के नुकसान – Side Effects of Flaxseed in Hindi

अलसी के सेवन से निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं।

  • एक लिमिट में कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए इसका सेवन करना फायदेमंद होता है परंतु आप ज्यादा ही अलसी खाने लगते हैं तो यह कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने की जगह पर आप को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • अगर डॉक्टर के द्वारा आपको कोई ऐसी दवा दी गई है जो आपकी बॉडी के खून को मोटे से पतला करने का काम करती है तो आपको अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपको खून बहने की समस्या हो सकती है।
  • डायरिया और दस्त यह दोनों ऐसी समस्या है जो तब आपको ज्यादा हो सकती है जब आप अलसी का सेवन इसके लिमिट से ज्यादा करने लगेंगे।
  • जिन लोगों को डायबिटीज की प्रॉब्लम है उन्हें अलसी को अपने खाने में शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य इसके बारे में कंसल्ट करना चाहिए क्योंकि ऐसा पाया गया है कि जो लोग डायबिटीज की समस्या से परेशान होते हैं, वह अगर अलसी को अपने खाने में शामिल करते हैं तो इसके अंदर जो ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है वह डायबिटीज वाले पेशेंट की समस्या को बढ़ा सकता है।

अलसी (Flaxseed) किसे नहीं खाना चाहिए?

अलसी के कई फायदे हैं। इसलिए लोग इसे खाने के बारे में सोचने लगते हैं परंतु कुछ अवस्था में अलसी का सेवन नहीं किया जाना चाहिए जिसके बारे में नीचे आपको बताया गया है।

  • फूड से एलर्जी वाले लोगों को
  • लो ब्लड प्रेशर वाले लोगों को
  • लो ब्लड शुगर वाले लोगों को
  • जो लोग दस्त या फिर डायरिया से परेशान हैं
  • जो लोग खून पतला करने की दवा ले रहे हैं
  • डिप्रेशन की समस्या से परेशान लोगों को

अलसी को सुरक्षित कैसे रखें?

अगर आप अलसी की सुरक्षा पर ध्यान नहीं देते हैं तो वह जल्दी से खराब हो सकती है। इसलिए जब आप अलसी खरीद करके लाए तब आपको उसे किसी ऐसे डिब्बे में बंद कर देना चाहिए जिसमें हवा का आदान-प्रदान ना हो।

ये भी पढ़ें : Cinnamon क्या होता है? दालचीनी के फायदे, नुकसान और उपयोग 

यह डब्बा प्लास्टिक का रहेगा तो और भी अच्छा है या फिर कांच का डब्बा भी चलेगा। अगर आपने अलसी के बीजों को पीसकर के उसका पाउडर बनाया है तो आपको इसे कांच वाले डब्बे में ही रखना चाहिए। एक बार में ही आपको ज्यादा अलसी खरीदने से या फिर पिसने से बचना चाहिए।

क्या डायबिटीज वाले पेशेंट अलसी को खा सकते हैं?

डायबिटीज वाले पेशेंट अलसी को खा सकते हैं परंतु बहुत ही कम मात्रा में क्योंकि इसके अंदर जो Omega 3 फैटी एसिड होता है वह तब आप को नुकसान पहुंचाना चालू कर देगा जब आप लिमिट से ज्यादा अलसी का सेवन करेंगे।

क्या अलसी खाने से वजन घटता है? – Flax Seeds For Weight Loss in Hindi

जी हां और इसका कारण यह है कि इसमें डाइटरी फाइबर मौजूद होता है, जो सीधा आपकी बॉडी में उस हिस्से पर अटैक करता है जहां पर एक्स्ट्रा चर्बी जमी हुई होती है और जब यह अटैक करता है तो जो चर्बी जमी हुई है वह धीरे-धीरे कम होती है अर्थात गलने लगती है।

अलसी यानि Flaxseeds के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

अलसी की तासीर कैसी होती है?

गर्म

फ्लेक्स सीड में कितनी कैलरी होती है?

100 ग्राम में 534 केसीएल

अलसी खाने से क्या लाभ होते हैं?

अलसी खाने से कौन-कौन से लाभ है इसके बारे में हमने आपको आर्टिकल में बताया है। हालांकि आर्टिकल में हमने आपको जो तरीका बताया है, उसके अलावा भी अलसी खाने के कई फायदे होते हैं।

अलसी के बीज कैसे खाने चाहिए?

आपको इसे पानी में भिगोकर के खाना चाहिए।

अलसी कब खानी चाहिए?

सुबह का समय इसे खाने के लिए अच्छा माना जाता है।

ऑल से कितनी मात्रा में खानी चाहिए?

25 ग्राम रोजाना

अलसी में कौन-कौन से विटामिन होते हैं?

विटामिन-सी, थियामि, राइबोफ्लेविन,नियासि, विटामिन बी-6, फोलेट, विटामिन-ई, विटामिन-के

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की अलसी क्या होता है? और अलसी के फायदे और नुकसान? (Flaxseed in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Flaxseed Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Flaxseed in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment