पार्सले क्या होता है? अजमोद के फायदे, प्रकार, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान क्या है? जानिए Parsley Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे टैपिओका के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Parsley in Hindi) के बारे में क्योंकि आयुर्वेदिक में ऐसी कई जड़ी बूटियों का जिक्र है, जो अलग-अलग कामों के लिए इस्तेमाल की जाती हैं। अजमोद की गिनती भी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के अंदर की जाती है। सामान्य तौर पर लोग इसके बारे में बहुत कम ही जानते हैं।

इसलिए हमने सोचा कि क्यों ना ऐसे लोगों को अजमोद की जानकारी दी जाए, जो इसके बारे में बिल्कुल भी नहीं जानते हैं। अजमोद के फायदे क्या है तथा यह किस प्रकार से हमारे लिए लाभकारी है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Parsley Kya Hai, अजमोद के फायदे, Parsley in Hindi, अजमोद के नुकसान, Parsley meaning in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

अजमोद क्या होता है? – What is Parsley in Hindi

Parsley In Hindi
Parsley In Hindi

आपने इंडिया में घर-घर में इस्तेमाल होने वाली धनिया देखी होगी, यह जो Parsley है, यह भी बिल्कुल धनिया की तरह ही दिखाई देती है परंतु बता दे कि सामान्य तौर पर इसे लोग विदेशी जड़ी बूटी कहते हैं। अमेरिका और यूरोप यह कुछ ऐसे देश है जहां पर यह भारी मात्रा में पैदा किया जाता है और इसका इस्तेमाल किया जाता है।

इंडिया में तो कई लोग इसके बारे में जानते ही नहीं है। बात करें अगर इसके इस्तेमाल की तो सब्जियों को टेस्टी बनाने के लिए, बढ़िया सूट तैयार करने के लिए और सलाद के अंदर इस को मिक्स करने के लिए यूज मे लिया जाता है।

पार्सले को हिंदी में क्या बोलते हैं – Parsley meaning in Hindi

भारत के लोकल बाजारों में पार्सले शायद ही आपको दिखाई दे परंतु सुपर मार्केट में यह हमेशा बिकने के लिए पाई जाती है। कुछ हद तक यह धनिया की तरह दिखाई देती है और इसका रंग हल्का हरा होता है। Parsley काफी सुगंधित पौधा होता है और इसके अंदर पौष्टिक तत्वो की भरमार होती है।

इंटरनेट पर कई जगह यह जानकारी दी गई है कि Parsley को हिंदी में अजमोद कहा जाता है परंतु यह बात बिल्कुल झूठ है। जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि यह एक विदेशी जड़ी बूटी होती है। इसलिए हिंदी में इसका कोई नाम नहीं है।

अजमोद के प्रकार – Types of Parsley in Hindi

अजमोद के निम्न प्रकार हैं जो नीचे दिए गए हैं।

  1. घुंघराले अजमोद (Curly Parsley)
  2. इटालियन अजमोद (Italian Parsley)

अजमोद के फायदे – Benefits of Parsley in Hindi

धनिया की तरह दिखाई देने वाली अजमोद की पत्तियां इंसानी बॉडी को कई प्रकार से फायदा पहुंचाने का काम करती हैं परंतु इसके बारे में लोगों को जानकारी ना होने के कारण वह इसका सेवन नहीं करते हैं, तो चलिए आपको हम यह बता देते हैं कि, इसे खाने के एडवांटेज क्या है ताकि आप इसका सेवन करना चालू कर दें।

1. आयरन की कमी को दूर करने में अजमोद के फायदे

अगर आप अपनी बॉडी में आयरन की कमी का सामना कर रहे हैं तो डॉक्टर के पास जाने से अच्छा है कि आप इसे खाना चालू कर दें। दरअसल बात यह है कि बॉडी में जब आयरन की कमी हो जाती है और उसके इलाज के लिए जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं, तो वह भी आपको हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने के लिए कहते हैं।

ये भी पढ़ें : टैपिओका क्या होता है? टैपिओका के फायदे, प्रकार, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

ऐसे में आप अजमोद का सेवन करना चालू कर सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला आयरन आपकी बॉडी में आयरन की कमी को दूर करता है और एनेमिया तथा खून की कमी जैसी समस्या से भी आप को बचाता है।

2. हड्डियों को मजबूत बनाने में अजमोद के फायदे

प्रोटीन, फास्फोरस, कैलशियम जैसे तत्वों से भरपूर Parsley का सेवन करने पर यह आपकी हड्डियों को मजबूत करता है और उनकी जो छोटी-मोटी समस्याएं होती हैं, उन्हें भी खत्म करता है। इसके लिए आपको अजमोद की पत्तियों को लेना है और उसे मिक्सर में पीस लेना है और इसका जूस निकाल करके आपको रोजाना सुबह के समय नाश्ता करने के बाद इसका जूस पीना है।

यह आयरन की पूर्ति आपकी बॉडी में करेगा और इसमें पाए जाने वाले तत्व आपकी हड्डियों को मजबूत करेंगे, साथ ही कमर दर्द की समस्या से भी आपको छुटकारा दिलाएंगे।

3. किडनी को स्वस्थ बनाने में अजमोद के फायदे

किडनी स्टोन एक ऐसी समस्या है जो अब कई लोगों को हो रही है। यहां तक कि अब जवान लड़के और लड़कियों में भी यह समस्या देखी जा रही है। ऐसे में किडनी की समस्या से बचने के लिए आपको Parsley को अपने खाने में शामिल करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : ब्रोकली क्या होता है? ब्रोकली के फायदे, प्रकार, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

दरअसल इसमें जो तत्व होते हैं वह बॉडी में जाने के बाद एंटी ऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं और बॉडी में जो भी गंदगी होती है, उसे मल के द्वारा बाहर निकलने का काम करते हैं। इससे किडनी स्टोन यानी की पथरी होने की संभावना काफी कम होती है।

4. आंखों को स्वस्थ रखने में Parsley Benefits in Hindi

हमारी ही गलतियों के कारण कई बार हमारी आंखों में सूजन पैदा हो जाती है अथवा उनमें इंफेक्शन हो जाता है। ऐसी सिचुएशन में हम परेशान हो जाते हैं परंतु परेशान होने की जगह पर आपको ऐसी अवस्था में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर अजमोद को खाना चालू कर देना चाहिए। यह आंखों की सूजन को धीरे धीरे कम करता है और इन्फेक्शन होने से भी हमारी आंखों को बचाता है।

5. मुंह की बदबू दूर करने में Parsley Benefits in Hindi

मुंह की बदबू एक ऐसी समस्या है जो आमतौर पर लड़के लड़कियों तथा अन्य सभी इंसानों को होती है। कुछ हद तक तो यह ठीक रहता है परंतु जब किसी व्यक्ति के मुह से ज्यादा बदबू आने लगती है तो उसे तुरंत अपनी बदबू को कम करने का उपचार करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : साबूदाना क्या होता है? साबूदाना कैसे बनता है?

उपचार के तौर पर उसे अजमोद को खाना चालू करना चाहिए। विटामिन सी, विटामिन के और फोलिक एसिड की उपलब्धता होने के कारण जो व्यक्ति Parsley को खाना चालू करते हैं, उनकी मुंह की बदबू कुछ ही दिनों में पार्सले का सेवन करने से गायब हो जाती है।

6. मुहासे गायब करने में Parsley Benefits in Hindi

धूल मिट्टी जमा हो जाने के कारण हमारे चेहरे पर पिंपल यानी कि मुंहासे पैदा हो जाते हैं, जो काफी जिद्दी होते हैं और अगर हम सावधानी नहीं बरतते हैं तो यह हमारे चेहरे पर दाग भी छोड़ देते हैं। पिंपल हो जाने की अवस्था में आपको Parsley का इस्तेमाल करना चाहिए।

विटामिन और अन्य पौष्टिक तत्वों से भरपूर Parsley की पत्तियों को आपको पीसना चाहिए और उसमें थोड़ा सा गुलाब जल और ग्लिसरीन तथा हल्दी मिलानी चाहिए। अब आपको इसका पेस्ट बनाकर के जहां मुंहासे हुए हैं, वहां पर लगाना चाहिए और आधे घंटे के बाद आपको धो देना चाहिए। महीने भर यह उपाय करने से आपको लाभ होगा।

7. पौष्टिक तत्वों की पूर्ति करने में Parsley Benefits in Hindi

ऐसा नहीं है कि जब आपको कोई समस्या हो तभी आपको अजमोद खाना चालू करना है। आप दैनिक जीवन में पौष्टिक तत्वो की पूर्ति करने के लिए भी Parsley को खाना चालू कर सकते हैं। Parsley में जरूरी विटामिन, एंटी ऑक्सीडेंट और अन्य खनिज पदार्थ भारी मात्रा में मौजूद होते हैं, जो आपको कई बीमारियों को होने से बचाते हैं और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी अच्छी बनाते हैं।

8. एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर है अजमोद

यह हमारी बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को तो अच्छा करता ही है, इसके साथ ही अगर कोई व्यक्ति रोजाना Parsley का जूस बना करके इसे पीता है, तो यह पेट के कीड़े को भी खत्म करता है, क्योंकि एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होने के कारण यह पेट में जाने के बाद पेट में मौजूद कीड़ों को खत्म करता है। इससे हमारे खाने का पाचन सही होता है और हमारी बॉडी का विकास होता है।

अजमोद के नुकसान – Side Effects of Parsley in Hindi

उल्टी और दस्त यह दोनों ऐसी कॉमन प्रॉब्लम है, जो तब अधिक होने लगती है जब कोई व्यक्ति अजमोद को ज्यादा खाना चालू कर देता है। डॉक्टर के द्वारा उन लड़कियों को अजमोद खाने के लिए मना किया जाता है, जो जल्दी ही बच्चा देने वाली है अर्थात जिनके पेट में बच्चा है।

ये भी पढ़ें : प्रोटिनेक्स क्या होता है? जानिए प्रोटिनेक्स खाने के फायदे और नुकसान

जो लोग स्किन एलर्जी का सामना कर रहे हैं उन्हें इसे नहीं खाना चाहिए, यह उनकी स्कीन पर दाने ला सकता है। अगर इसे खाने पर आपको कोई एलर्जी होती है, तो इसे खाना आप को बंद करना चाहिए और डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

अजमोद के उपयोग – Uses of Parsley in Hindi

हमने आपको ऊपर ही इस बात की जानकारी दी है कि इसकी गिनती सब्जियों में होती है। इसीलिए आप किसी अन्य सब्जी के साथ मिक्स करके इसे खा सकते हैं। अथवा आप चाहे तो इसकी पत्तियों को सुखाकर के इसका पाउडर बना सकते हैं और उसे मसाले के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

अजमोद के पोषक तत्व – Parsley Nutrient in Hindi

  • सोडियम
  • पोटैशियम
  • कार्बोहाइड्रेट
  • विटामिन सी
  • कैलशियम
  • मैग्निशियम
  • फाइबर
  • आयरन
  • विटामिन बी
  • विटामिन बी सिक्स
  • कोबलमाइन

अजमोद की पत्तियों के फायदे – Parsley Leaves in Hindi

बता दें कि Parsley की पत्तियां ही इसकी मुख्य चीज होती है। यह बिल्कुल धनिए की तरह दिखाई देती हैं और इसका आकार भी धनिए की तरह ही होता है। रंग में यह आपको हरी हरी दिखाई देती हैं। इसकी पत्तियों का आप जूस बनाकर के पी सकते हैं ताकि आपको अजमोद के फायदे प्राप्त हो सके।

अजमोद के बीज कैसे होते हैं? – Parsley Seeds in Hindi

आपने कभी ना कभी धनिया के बीज अवश्य देखें होंगे। जिस प्रकार धनिया के बीज छोटे होते हैं और उनका रंग कत्थई होता है, उसी प्रकार Parsley के बीज भी छोटे होते हैं और उनका भी कलर कत्थई होता है। इसके बीज आपको किसी पंसारी की दुकान पर मिलेंगे। वहां नहीं मिलते हैं तो इसकी सेलिंग ऑनलाइन भी होती है। आप वहां से भी इसकी ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं।

अजमोद वैज्ञानिक नाम – Parsley Scientific Name in Hindi

धनिया की तरह दिखाई देने वाले और सब्जियों की कैटेगरी में आने वाले अजमोद का वनस्पतिक नाम Petroselinum crispum है। इसे विदेशी सब्जी होने का दर्जा प्राप्त है क्योंकि इसकी खेती इंडिया में कहां पर होती है इसके बारे में हमें कोई भी जानकारी नहीं है परंतु दक्षिण अमेरिका में इसकी खेती बड़े पैमाने पर की जाती है और वहां से इसे अन्य देशों में भी एक्सपोर्ट किया जाता है।

ड्राई अजमोद क्या होता है? – Dry Parsley in Hindi

जब अजमोद की सब्जी तैयार हो जाती है, तब इसकी पत्तियों को हाथों से तोड़ लिया जाता है और फिर उसे धूप में सूखने के लिए रख दिया जाता है। जब इसकी पत्तियां सूख जाती है तो इसे कूट करके एक पाउडर का फॉर्म दे दिया जाता है, इसे ही ड्राई Parsley कहा जाता है।

अजमोद का पौधा कैसा होता है? – Parsley Plant in Hindi

जितनी ऊंचाई धनिया के पौधे की होती है, उतनी ही ऊंचाई अजमोद के पौधे की भी होती है, जो सामान्य तौर पर एक बित्ता से लेकर के तीन बिता तक होती है। रंग में यह आपको कहीं-कहीं पर हल्के हरे कलर की दिखाई देती है, तो कहीं पर यह आपको गाढे हरे कलर की दिखाई देती है।

अजमोद (Parsley) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

मेरे शरीर की हड्डियां कमजोर है, क्या मैं अजमोद का सेवन कर सकता हूं?

आप निश्चिंत होकर के इसका सेवन कर सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम हड्डियों का मजबूत बनाएगा और आपकी हड्डियों को ताकत भी देगा।

अजमोद की खेती के लिए सबसे अच्छी मिट्टी कौन सी मानी जाती है?

दोमट मिट्टी

क्या अजमोद की खेती करने के लिए इसे ज्यादा पानी देने की आवश्यकता होती है?

नहीं इसकी सिंचाई 1 महीने में दो बार की जाती है।

Parsley की खेती कब चालू की जाती है?

अक्टूबर के महीने में

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की अजमोद क्या होता है? और अजमोद के फायदे और नुकसान? (Parsley in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Parsley Ke Fayde aur Nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Parsley in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment