रेड मीट क्या होता है? रेड मीट के फायदे और नुकसान क्या है? जानिए Red Meat Ke Fayde aur Nuksan से जुड़ी सभी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे रेड मीट के फायदे और नुकसान क्या है पूरी जानकारी (Red Meat in Hindi) के बारे में क्योंकि इंडिया में पोल्ट्री फॉर्म काफी तेजी के साथ खुल रहे हैं। इसके पीछे कारण यह है कि इंडिया के लोग अब तेजी के साथ मांसाहारी खाने को खाना भी पसंद कर रहे हैं। इंडिया में अधिकतर वैसे तो बकरा और मुर्गी खाई जाती है। इसके अलावा अंडा भी कई लोग खाते हैं। इसके अलावा भेड़, खरगोश और कबूतर का मांस भी कई लोग खाते हैं।

इसके अलावा भी ऐसे कई जानवर और पशु पक्षी है जिन का मांस खाना लोग पसंद करते हैं। बात करें अगर रेडी मीट की तो रेड मीट के तौर पर मुख्य रुप से बकरे के मीट को खाया जाता है। सर्दियों के मौसम में तो सभी प्रकार के मीट की खपत ज्यादा हो जाती है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Red Meat Kya Hai, रेड मीट खाने के फायदे, Red Meat in Hindi, रेड मीट खाने के नुकसान, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

लाल मांस क्या होता है? – What is Red Meat in Hindi

Red Meat In Hindi
Red Meat In Hindi

रेड मीट की कैटेगरी में सूअर, हैम,लैंप,भेड,गये और बकरे का मांस आता है। बात करें अगर इसके रंग की तो रेडी मीट को हिंदी में ट्रांसलेट किया जाए तो इसका मतलब होता है गहरा लाल रंग। Red Meat के अंदर पौष्टिक तत्व कूटकर भरे हुए होते हैं। इसके अंदर फैट की मात्रा भी अधिक होती है। ऐसा कहा जाता है कि अगर किसी रेड मीट का रंग गहरा लाल है तो समझ लीजिए कि उसमें फैट की मात्रा अधिक है।

रेड मीट को तैयार करने में अलग-अलग तरीके का इस्तेमाल किया जाता है। पहले के समय में जानवर खुले में घूमते थे और घास पतिया खाते थे परंतु अब Red Meat को प्राप्त करने के लिए बकरा फार्म, सूअर फार्म भी तैयार कर लिया गया है और उसमें बकरे और सूअर को पाला जाता है, साथ ही उन्हें अलग-अलग प्रकार के इंजेक्शन भी दिए जाते हैं ताकि उनका आकार बड़ा हो।

रेड मीट में क्या शामिल है? – Red Meat List in Hindi

  • बकरे का मांस
  • लेंब का मांस
  • हैम का मांस
  • भेड़ का मांस
  • सूअर का मांस
  • गाय का मांस
  • हिरन का मांस
  • बछड़े का मांस

रेड मीट में कितना प्रोटीन होता है? – Red Meat Protein Value in Hindi

रेड मीट खाने से आपको हाई क्वालिटी का प्रोटीन प्राप्त होता है। बता दे कि अगर आप 100 ग्राम तक Red Meat खा लेते हैं तो 100 ग्राम रेड मीट खाने के बाद आपको 20 ग्राम से लेकर के 24 ग्राम का हाई क्वालिटी का प्रोटीन मिलता है। जो प्रोटीन आपको 100 ग्राम Red Meat खाने के बाद मिलता है उसके अंदर अमीनो एसिड की अच्छी मात्रा उपलब्ध होती है जो बॉडी की ग्रोथ में सहायक होती है और बॉडी के मसल्स को रिपेयर करती है,

ये भी पढ़ें : कीवी क्या होता है? कीवी फल के फायदे, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

साथ ही हमारे शरीर को काम करने के लिए एनर्जी भी देती है। जिम जाकर कसरत करने वाले लोगों को रेड मीट को खाना अवश्य चालू करना चाहिए। यह उनकी मसल्स तेजी के साथ बढ़ाने का काम करेगा और उन्हें प्रोटीन की पूर्ति भी करेगा।

लाल मांस में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Red Meat Nutrients in Hindi

नीचे जो भी मात्राएं बताई गई है, वह 100 ग्राम रेड मीट की मात्राएं हैं।

  • कैलरी:247
  • वसा:19.07 g
  • प्रोटीन:17.44 g
  • आयरन:1.97 मिलीग्राम
  • पोटेशियम:274 एमजी
  • जिंक:4.23 एमजी
  • विटामिन B12: 2.15 माइक्रोग्राम

लाल मांस के फायदे – Red Meat Benefits in hindi

खाने में स्वादिष्ट होने के कारण ही अधिकतर लोग रेड मीट का सेवन करते हैं और उनमें से कुछ लोगों को ही इसे खाने के कौन से एडवांटेज होते हैं, इसके बारे में जानकारी होती है। इसलिए हमने सोचा कि क्यों ना आपको रेड मीट खाने के फायदे बताए जाए, ताकि आप इसका पूरा पूरा फायदा उठा सकें।

1. प्रोटीन देता है रेड मीट

क्या आप जानते हैं कि जब आप 100 ग्राम Red Meat खाते हैं तो आपको 100 ग्राम रेड मीट खाने के कारण तकरीबन 20 ग्राम से लेकर के 22 ग्राम तक प्रोटीन की प्राप्ति होती है जो आपकी मसल्स को रिपेयर करती है, आपकी बॉडी बनाती है और आपके शरीर की प्रोटीन की आवश्यकता को पूरा करने का काम करती है।

ये भी पढ़ें : एंडोरा मास क्या होता है? एंडोरा मास के फायदे, प्रकार, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

2. विटामिन मिनरल दे लाल मास

विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, मिनिरल, जिंक, विटामिन डी, ओमेगा 3, क्रिएटिन, कार्नोसिन, फैटी एसिड सीएलए, विटामिन ए और विटामिन ई, यह सभी तत्व आपको रेड मीट के अंदर मिल जाते हैं। अगर आपको अपनी बॉडी में इनमें से किसी भी तत्व की कमी का एहसास हो रहा है तो आज से ही लाल मास अपने भोजन में शामिल कर ले।

3. टेस्टोस्टरॉन लेवल बढ़ाए रेड मीट

अगर किसी व्यक्ति में टेस्टोस्टेरोन का लेवल घटा हुआ होता है, तो उसे थकान महसूस होती है, साथ ही उसे सर दर्द होने लगता है। इसके अलावा दूसरा सबसे बड़ा नुकसान यह है कि वह कोई भी काम लंबे समय तक नहीं कर पाता है। खासतौर पर तो बॉडी बनाने की इच्छा रखने वाले लोगों को अपना टेस्टोस्टेरोन लेवल बढाए रखना चाहिए। इसके लिए वह चाहे तो लाल मांस खाना चालू कर सकते हैं। यह टेस्टोस्टरॉन लेवल को बढ़ाने का काम करता है, साथ ही आपकी सेक्सुअल लाइफ को भी अच्छा करता है।

4. घुटनों का दर्द दूर करे रेडमीट

अगर आपके जोड़ों में या फिर आपके घुटने में दर्द होता है तो इसके लिए आपको करना यह है कि आपको बकरे के पैर का जो हिस्सा है जिसे पाया कहा जाता है उसका सूप बना करके पीना है। यह आजमाया हुआ तरीका है। यह  आपको जोड़ों के दर्द और घुटने के दर्द से आराम दिलाता है और 1 से 2 महीने के अंदर ही उसे हमेशा के लिए खत्म कर देता है।

ये भी पढ़ें : Fennel Seeds क्या होता है? सौंफ के फायदे, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

5. एनीमिया दूर करें रेडमीट

जब आयरन की कमी महिला या पुरुष के शरीर में हो जाती है तो इससे बॉडी में खून का लेवल भी घट जाता है साथ ही हिमोग्लोबिन भी कम हो जाता है, जो कई समस्याओं को पैदा कर सकता है। एनीमिया दूर करने में रेड मीट आपके लिए सहायक साबित हो सकता है, क्योंकि इसके अंदर भर भर कर आयरन की उपलब्धि होती है। इसीलिए अगर आप लाल मांस खाना चालू करते हैं तो आयरन की पूर्ति बराबर बॉडी में होती रहती है। इससे एनीमिया आपको नहीं होता है।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी करें रेडमीट

जिंक की अच्छी मात्रा रेड मीट में पाई जाती है जो बॉडी की इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी अच्छा करती है। अगर आपको इनमें से किसी भी समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो रेडीमीट को खाना चालू करें।

7. ताकत दे लाल मास

यही वह वजह है जिसके कारण अधिकतर लोग लाल मांस खाते हैं। लाल मांस खाने से हमें स्वाद तो मिलता ही है साथ ही यह हमें ताकत भी देने का काम करता है, जिससे हम एनर्जीटिक अपने आपको महसूस करते हैं।

लाल मांस के नुकसान – Disadvantages of Red Meat in Hindi

ज्यादा रेड मीट खाने से हृदय का रोग, टाइप टू डायबिटीज हो सकता है। इसका अधिक सेवन करने से व्यक्ति मोटापे का शिकार हो सकता है, उसकी बॉडी में कोलेस्ट्रॉल का लेवल ज्यादा हो सकता है। ज्यादा खाने पर कैंसर भी हो सकता है। कई बार जो तैयार Red Meat आप खाते हैं वह बासी होते हैं और बासी होने के कारण वह स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माने जाते हैं। ऐसे में जब आप उसे खा लेते हैं तो उससे आपको एलर्जी भी हो सकती है अथवा फूड प्वाइजनिंग भी हो सकती है।

ये भी पढ़ें : पार्सले क्या होता है? अजमोद के फायदे, प्रकार, उपयोग, इस्तेमाल और नुकसान

रेड मीट खरीदने से पहले क्या देखें?

जब कभी भी आप बाजार में रेड मीट यानी कि लाल मास खरीदने के लिए जाएं तब आपको नीचे दि गई बातों का ध्यान रखकर ही खरीददारी करनी है।

  • रेड मीट ताजा ही खरीदें।
  • सामने रेड मीट कटवाए उसके बाद ही खरीदें।
  • जिस दुकान पर शुद्धता हो, वहां से ही रेड मीट खरीदें।
  • पैकिंग वाले Red Meat खाने से बचें।
  • जो रेड मीट खरीदें उस पर खून के धब्बे नहीं होने चाहिए।
  • जिस दुकान के पास एफएसएसएआई का सर्टिफिकेट हो वहां से ही रेड मीट खरीदें।
  • Red Meat मे कोई अन्य जानवर का मांस तो नहीं मिला है इसकी चेकिंग कर ले।

रेड मीट से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या रेड मीट के अंदर गाय का मांस भी आता है?

नहीं गाय का मांस रेड मीट के अंदर शामिल नहीं है।

क्या महिलाओं को रेड मीट खाना चाहिए?

यह उनके ऊपर डिपेंड करता है कि वह इसे खाना चाहती है अथवा नहीं।

भारत में सबसे ज्यादा किस का मांस खाया जाता है?

इंडिया में सबसे ज्यादा बकरे का मांस और मुर्गे का मांस खाया जाता है।

रेड मीट का रंग कैसा होता है?

रेड मीट का रंग लाल होता है।

क्या हम रोजाना रेड मीट का सेवन कर सकते हैं?

नहीं आपको इसे रोज नहीं खाना चाहिए वरना आप मोटापे का शिकार हो सकते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की रेड मीट क्या होता है? और रेड मीट के फायदे और नुकसान (Red Meat in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में red meat khane ke fayde aur nuksan को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Red Meat in Hindi पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment