Skipping Rope क्या होता है? रस्सी कैसे कूदे? रस्सी कूदने के फायदे और नुकसान से जुड़ी जानकारी हिन्दी में

आज हम जानेंगे रस्सी कूदने के फायदे और नुकसान की पूरी जानकारी (Skipping Rope in Hindi) के बारे में क्योंकि स्वस्थ रहने के लिए यह जरूरी नहीं है कि हम जिम जाकर कसरत करें बल्कि हम घर पर ही कुछ ऐसी चीजें कर सकते हैं, जो हमें स्वस्थ बनाने में हमारी सहायता कर सकती है‌। स्कीपिंग रोप भी उसी में शामिल है। स्कीपिंग रोप को हिंदी भाषा में रस्सी कूदना कहा जाता है जो कि एक बहुत ही आरामदायक एक्सरसाइज है।

यह एक ऐसी एक्सरसाइज है जिसमें आपको ज्यादा सामान की आवश्यकता नहीं पड़ती है। बस आपको एक रस्सी की आवश्यकता पड़ती है और आपको उसी रस्सी के सहारे कूदना पड़ता है। इस एक्सरसाइज से हमारी बॉडी में कुछ ही मिनट के अंदर काफी कैलरी बर्न होती है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Skipping Rope Kya Hai, रस्सी कूदने के फायदे, रस्सी कूदने के नुकसान, Skipping Rope in Hindi, Skipping Rope meaning in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

स्किपिंग रोप क्या है? – What is Skipping Rope in Hindi

Skipping Rope In Hindi
Skipping Rope In Hindi

इस एक्सरसाइज को बॉक्सर और फुटबॉल खेलने वाले खिलाड़ी ज्यादा करते हैं क्योंकि इसकी गिनती कार्डियो एक्सरसाइज में की जाती है। जब कोई व्यक्ति रस्सी कूदता है तो इससे उसकी बॉडी में उपलब्ध कैलरी की मात्रा कम होने लगती है और जब बॉडी में कैलरी की मात्रा कम होती है तो व्यक्ति का स्टैमिना भी अच्छा बन जाता है।

अगर आप थोड़ी ही देर में ज्यादा मात्रा में कैलरी बर्न करना चाहते हैं तो आपको रस्सी कूदना आज से ही चालू कर देना चाहिए। प्राप्त जानकारी के अनुसार 1 मिनट तक अगर कोई व्यक्ति रस्सी कूदता है, तो उसकी बॉडी में तकरीबन 10 कैलोरी बर्न होती है।

रस्सी कैसे कूदे? – How To Jump with Skipping Rope in Hindi

अगर आप पहली बार रस्सी कूदने जा रहे हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना है कि जो रस्सी आप कूदने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं वह ज्यादा बड़ी नहीं ना हो, वरना वह जमीन में टच कर सकती है और ऐसा होने पर आप रस्सी नहीं कुद पाएंगे। इसके अलावा स्टार्टिंग में आपको 20 से 30 बार ही रस्सी कूदनी है और जब आपको इसका अभ्यास हो जाए तब आपको रस्सी कूदने की गिनती को बढ़ाना है।

ये भी पढ़ें : Ringworm क्या होता है? जानिए दाद, खाज, खुजली के लक्षण, प्रकार, कारण, और उपाय 

रस्सी कुदते समय आपको अपने पैरों की तरफ नहीं देखना है बल्कि आपको सामने देखते हुए रस्सी कूदना है, क्योंकि अगर आप अपने पैरों की तरफ देखेंगे तो रस्सी आपके पैरों में फंस जाएगी और आप गिर भी सकते हैं।रस्सी कूदने से पहले आप किसी फल का जूस पी सकते हैं या फिर आप एक गिलास पानी भी पी सकते हैं ताकि आपको रस्सी कूदने के बीच में प्यास का सामना ना करना पड़े।

रस्सी कूदने का सही समय क्या है? – Right Time to do Skipping in Hindi

वैसे तो इसके लिए किसी भी प्रकार के स्पेशल टाइम का निर्धारण नहीं किया गया है परंतु अगर आप रस्सी कूदना चाहते हैं तो हमारी सलाह के अनुसार आपको सुबह के समय में रस्सी कूदना चालू करना चाहिए, क्योंकि सुबह के समय में वातावरण में काफी शांति होती है,

साथ ही एक्सरसाइज करने के लिए सुबह का समय ही बढ़िया माना जाता है तो इस प्रकार से आप सुबह के समय रस्सी कूदना चालू कर सकते हैं। अगर आपके पास सुबह के समय में रस्सी कूदने के लिए टाइम नहीं है, तो आप अपनी मनमर्जी के हिसाब से कभी भी रस्सी कूदना चालू कर सकते हैं।

रस्सी कूदने के फायदे – Benefits of Skipping Rope in Hindi

अगर आप यह सोचते हैं कि रस्सी कूदना सिर्फ एक टाइम पास है तो यह बात गलत है बल्कि इसके कई फायदे भी होते हैं तभी लोग रस्सी कूदना चालू करते हैं।‌नीचे आपको स्कीपिंग रोप के बेनिफिट क्या है, इसके बारे में जानकारी दी जा रही है।

1. रस्सी कूदना वजन कम करें

यही वह सबसे बड़ी वजह है जिसके कारण लोग रस्सी कूदते हैं। जब कोई व्यक्ति रस्सी कूदना चालू करता है तो उसकी बॉडी में गतिविधियां होनी चालू हो जाती है और रस्सी कूदने के कारण उसकी बॉडी में कैलरी भी कम होने लगती है और जो एक्स्ट्रा कैलरी उसकी बॉडी में होती है वह भी खत्म होने लगती है। इस प्रकार रस्सी कूदने के कारण व्यक्ति की बॉडी में चर्बी गलने लगती है और जब चर्बी गलने लगती है, तो इसी से व्यक्ति का वजन कम होने लगता है।

2. रस्सी कूदना बॉडी की एनर्जी बढ़ाएं

जिन लोगों को कुछ भी काम करने के बाद थकावट महसूस होने लगती है या फिर ऐसे लोग जिन्हें किसी भी काम को चालू करने के कुछ ही देर के बाद थकान महसूस होने लगती है उन्हें रस्सी अवश्य कूदना चाहिए, क्योंकि यह हमारी बॉडी में एनर्जी को बढ़ाने का काम करती है। जब कोई व्यक्ति रस्सी कूदना चालू करता है तो उसकी बॉडी के अलावा मुख्य तौर पर उसके हाथ और उसके पैरों की अच्छी कसरत हो जाती है जिससे बॉडी में एनर्जी का लेवल इंक्रीज होता है।

3. रस्सी कूदना जोड़ों के दर्द में आराम दिलाएं

क्या आप जानते हैं कि जोड़ों के दर्द में आराम पाने के लिए भी स्किपिंग रोप एक बहुत ही बढ़िया उपाय माना जाता है, क्योंकि जब व्यक्ति रस्सी कूदना चालू करता है तो इससे उसके पैरों की कसरत होती है और पैरों की कसरत होने के कारण पैर में मौजूद सभी मांसपेशियां एक्टिव होती है। इस प्रकार जोड़ों के दर्द से आदमी को छुटकारा मिलता है।

ये भी पढ़ें : गर्म पानी पीने के फायदे और नुकसान क्या है?

4. रस्सी कूदना भी दिल के लिए फायदेमंद है

जब हम रस्सी कूदना चालू करते हैं तो ऐसा करने से हमारे बॉडी में जो ब्लड सरकुलेशन होता है वह और भी बेटर हो जाता है जिसकी वजह से हमें यह फायदा होता है कि दिल से जुड़ी हुई कुछ सामान्य बीमारियां और हार्ट स्ट्रोक जैसी समस्या के रिस्क से हम काफी हद तक बच जाते हैं।

5. रस्सी कूदना बैलेंस बनाएं

अगर आप सही से अपना बैलेंस नहीं बना पाते हैं तो आपको Skipping Rope अवश्य करना चाहिए, क्योंकि यह आपकी बॉडी का बैलेंस बनाने में आपकी सहायता करती है। हालांकि इसके लिए आपको कम से कम लगातार 1 से 2 महीने तक रस्सी कूदने की प्रैक्टिस करनी पड़ेगी, क्योंकि एक ही दिन में आपका बैलेंस नहीं बन पाएगा, हालांकि यह बात तो तय है कि एक ना एक दिन आपका बैलेंस अवश्य बनेगा।

रस्सी कूदने के नुकसान – Side Effects of Skipping in Hindi

रस्सी कूदने के फायदे के बारे में तो आपने ऊपर जानकारी प्राप्त कर ही ली है परंतु किसी भी चीज के दूसरे पहलू को देखना भी आवश्यक होता है। इसलिए रस्सी कूदने के डिसएडवांटेज क्या है यह भी जानना आवश्यक है।

रस्सी कूदने के लिए आपको मजबूत रस्सी लेनी चाहिए वरना वह टूट सकती है और आपको चोट भी लग सकती है। अक्सर रस्सी कूदने के दरमियान कई लोगों के पैर में रस्सी फस जाती है जिसके कारण उनके पैर में मोच भी आ जाती है। ऐसे लोगों को भूल कर भी रस्सी कूदना नहीं चाहिए जिन्होंने किसी भी प्रकार की पैरों से संबंधित सर्जरी करवाई है, क्योंकि इससे उन्हें नुकसान हो सकता है।

वजन घटाने के लिए रस्सी कैसे कूदे? – Skipping Rope for Weight Loss in Hindi

यही वह समस्या है जिसके कारण अधिकतर लोग रस्सी कूदने के बारे में सोचते हैं। अगर आप भी बढ़े हुए वजन से परेशान हैं तो निश्चित ही रस्सी कूदना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

वजन घटाने के लिए आपको सुबह के समय में रस्सी कूदनी चाहिए।‌ इसके लिए आपको स्टार्टिंग में लगातार 10 बार रस्सी कूदना चाहिए, उसके बाद आपको 2 मिनट का रेस्ट लेना चाहिए, उसके बाद आपको फिर से रस्सी कूदना चालू करना चाहिए और इस बार आपको कम से कम 30 बार रस्सी कूदनी है।

ये भी पढ़ें : मोटापा क्या होता है? मोटापा कैसे कम करें?

जैसे-जैसे आप रस्सी कूदने के अभ्यस्त होते जाए, वैसे वैसे आपको रस्सी कूदने की टाइमिंग को बढ़ाना है। हम आपको बता दें कि आप 1 या 2 दिन में ही कोई चमत्कार की उम्मीद ना करें। रस्सी कूद करके वजन घटाने के लिए आपको कम से कम लगातार 3 महीने तक इसका अभ्यास करना है, तभी आप अपनी बॉडी में फर्क महसूस करेंगे।

जब आप रस्सी कूदते हैं, तो आपकी बॉडी में जो एक्स्ट्रा कैलरी होती है वह खत्म होती है, साथ ही पेट के आसपास जम चुकी चर्बी भी खत्म हो जाती है और इससे ही आपका वजन धीरे-धीरे कम होता है।

किन लोगों को रस्सी नहीं कूदना चाहिए? – These People Should Avoid Skipping Rop in Hindi

ऐसे पेशेंट जिन्हें दिल से संबंधित कोई समस्या है या फिर जो दिल से संबंधित किसी भी प्रकार की बीमारी का सामना कर रहे हैं उन्हें रस्सी कूदना नहीं चाहिए। जो लोग हड्डियों के दर्द से परेशान हैं या फिर जिनकी हड्डियों में कभी फ्रैक्चर हुआ है उन्हें भी रस्सी नहीं कुदनी चाहिए। किसी व्यक्ति ने अगर अपने पैरों की त्वचा में सर्जरी करवा करके रखी है तो उन्हें भी रस्सी कूदना अवॉइड करना चाहिए। पंजों में अगर किसी भी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की समस्या है तो उन्हें भी इसे नहीं करना चाहिए।

क्या रस्सी कूदना ब्रेस्ट के लिए नुकसानदायक है? – Side Effects of Skipping Rope on Breasts

आपने अक्सर यूट्यूब पर ऐसे वीडियो देखे होंगे जो इस बात को बताते हैं कि रस्सी कूदने से लड़कियों की ब्रेस्ट साइज ढीली हो जाती है या फिर उनके ब्रेस्ट को नुकसान पहुंचता है। हालांकि हम आपको बता दें कि यह बात बिल्कुल झूठी है। रस्सी कूदना कार्डियो एक्सरसाइज की लिस्ट में आता है। इसलिए अपने मन से इस बात को बिल्कुल निकाल दे की रस्सी कूदने से लड़कियों के ब्रेस्ट को किसी भी प्रकार से नुकसान पहुंचता है। बल्कि यह हर प्रकार से उनके लिए फायदेमंद ही है।

Skipping Rope के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

रस्सी कूदने का सही समय क्या है?

सुबह का समय इसके लिए अच्छा माना जाता है परंतु आप अपने हिसाब से भी रस्सी कूदने के समय को तय कर सकते हैं।

रस्सी कूदने से क्या हाइट बढ़ती है?

जी हां

5 मिनट रस्सी कूदने में कितनी कैलोरी बर्न होती है?

50 कैलरी

1 दिन में कितनी रस्सी कूदनी चाहिए?

जितना आपकी कैपेसिटी हो।

क्या रस्सी कूदने से पेट की चर्बी कम होती है?

जी हां ऐसा होता है।

निष्कर्ष

आशा है आपको Skipping Rope in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर अभी भी आपके मन में How To Jump with Skipping Rope in Hindi और रस्सी कैसे कूदे? को लेकर आपका कोई सवाल है तो आप बेझिझक कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि सभी को skipping rope benefits in hindi के बारे में जानकारी मिल सके।

Leave a Comment