योग (Yoga) क्या होता है? योग कैसे किया जाता है? योग के फायदे और नुकसान क्या है?

आज हम जानेंगे योग क्या है और इसके फायदे और नुकसान की पूरी जानकारी (Yoga in Hindi) के बारे में क्योंकि इंडिया में जिन लोगों की उम्र 50 साल से ज्यादा है वह लोग अधिकतर योग करते हैं क्योंकि ऐसे लोग शारीरिक कसरत नहीं कर सकते। शारीरिक कसरत से हमारा मतलब है जिम जाकर कसरत करना परंतु ऐसे लोग योग अवश्य कर सकते हैं क्योंकि योग में ज्यादा शारीरिक मेहनत नहीं करनी होती है। जिम जाकर कसरत करने पर हमें अत्याधिक दर्द होता है और कभी-कभी तो कई लोगों को कसरत करने के दरमियान चोट भी लग जाती है

परंतु योग में चोट लगने की संभावना बहुत ही कम होती है, साथ ही इसमें दर्द भी नहीं होता है, क्योंकि योग के आसन को कुछ इस प्रकार से बनाया गया है कि इसके सभी फायदे भी व्यक्ति को प्राप्त हो जाते हैं और उसे नुकसान भी नहीं होता है। आज के इस लेख में जानेंगे कि Yoga Kya Hai, योग करने के फायदे, Yoga in Hindi, योग करने के नुकसान, Yoga Kaise Kare in Hindi, आदि की जानकारीयां पूरा डिटेल्स में जानने को मिलेगा, इसलिये इस लेख को सुरू से अंत तक जरूर पढे़ं।

योग क्या होता है? – What is Yoga in Hindi

Yoga In Hindi
Yoga In Hindi

योग एक प्रकार से देखा जाए तो विभिन्न आसन करने की एक क्रिया है, जिसका वर्णन हिंदू धर्म के प्राचीन ग्रंथों में है और हिंदू धर्म के ऋषि मुनि प्राचीन काल से ही योग करके अपने शरीर को स्वस्थ बनाते आए हैं। प्राचीन भारत की यह कला वर्तमान में भी विद्यमान है और अब तो यह पूरी दुनिया में फैल चुका है, जिसका श्रेय हमारे भारत देश के मोदी जी को जाता है। इन्ही के प्रयास के स्वरूप हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाता है।

योग करने से सबसे ज्यादा दिमाग को फायदा होता है क्योंकि योग करने से दिमाग शांत बनता है और उसकी एकाग्रता में काफी तेजी के साथ बढ़ोतरी होती है। योग में कई योग होते हैं और हर आसन के अलग-अलग फायदे होते हैं परंतु सभी आसन को करने के लिए सुबह का समय उत्तम माना जाता है। इसलिए सुबह के समय में ही अधिकतर योग क्लास चलाई जाती है। यहां तक कि व्यक्ति घर पर भी सुबह के समय में ही योग करता है।

हमें योग क्यों करना चाहिए? – Why Should we do Yoga

बढ़ते हुए प्रदूषण के कारण और महंगाई के कारण हमें मानसिक समस्याएं तो होती ही है, साथ ही हमें शारीरिक समस्याएं भी होती हैं और हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसे जिंदगी में कभी भी कोई भी बीमारी ना हो, क्योंकि बीमारियां अपने साथ अन्य समस्याएं भी ले कर के आती है।

ये भी पढ़ें : अनुलोम विलोम प्राणायाम क्या है? अनुलोम विलोम प्राणायाम के फायदे और नुकसान क्या है?

बीमार होने पर व्यक्ति को शारीरिक नुकसान होता है, साथ ही उसे पैसे की तंगी भी झेलनी पड़ती है, क्योंकि कुछ बीमारियां ऐसी होती है, जिनके इलाज के लिए लाखों रुपए खर्च हो जाते हैं। इसीलिए व्यक्ति अपने आप को स्वस्थ बनाए रखने के लिए योग करता है और हमें भी योग इसीलिए करना चाहिए ताकि हमारी जीवन शैली स्वस्थ बनी रहे और हम जल्दी बीमार ना पड़े।

योग कितने प्रकार के होते हैं? – Types of Yoga in Hindi

योग को मुख्य रूप से 4 अलग-अलग प्रकारों में बांटा गया है, जिनके नाम नीचे दिए गए हैं।

  1. राजयोग
  2. कर्मयोग
  3. भक्तियोग
  4. ज्ञान योग

घर पर योग कैसे करें? – How to do Yoga at Home step by step in Hindi

सभी व्यक्ति की आर्थिक स्थिति एक समान नहीं होती है। इसलिए हो सकता है कि पैसे की कमी के कारण आप योग करने के लिए योग क्लास जॉइन ना कर पा रहे हो और इसीलिए आप घर पर किस प्रकार से योग किया जाता है, इसके बारे में जानना चाहते हो। चलिए नीचे हमने आपकी समस्या का समाधान करते हुए घर पर योग करने का तरीका आपके साथ शेयर किया है।

1. योग करने के लिए सुबह का समय सबसे उत्तम माना जाता है। इसलिए सुबह के समय उठे।

2. सुबह के समय उठ जाने के बाद घर की बालकनी में या फिर घर के छत पर चले जाएं और जमीन पर एक चटाई बिछा दे। चटाई नहीं है तो कोई कपड़ा बिछा दे।

Yoga Kaise Kare
Yoga Kaise Kare

3. अब दोनों पैर मोड़कर के चटाई पर बैठ जाएं और अपनी रीड की हड्डी को सीधा कर ले।

Yoga Kaise Kare 1
Yoga Kaise Kare 1

4. अब दो-तीन बार जोर से सांस खीचे और सांस छोड़ें।

5. अब अपने दोनों हाथों को आपस में जोड़ करके अपने पेट के पास रख ले।

Yoga Kaise Kare 2
Yoga Kaise Kare 2

6. अपनी बॉडी को एकदम रिलैक्स होने दे और दिमाग को हल्का कर ले।

7. धीरे-धीरे सांस अंदर खींचें और उसके बाद धीरे-धीरे सांस बाहर छोड़ें।

8. यह क्रिया जब तक आपको सूटेबल लगे तब तक आप करें।

योग करने के क्या फायदे हैं? – Benefits of Doing Yoga in Hindi

मानसिक समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए और कुछ पल सभी टेंशन को भूलने के लिए लोग सुबह के टाइम में योग करना पसंद करते हैं। योग के इतने फायदे हैं कि लोग उनके बारे में शायद ही जानते हो। हमने योग करने के एडवांटेज क्या है अथवा योग करने से कौन से फायदे होते हैं, इसकी जानकारी आपके साथ नीचे शेयर की है।

1. हृदय स्वास्थ्य में योग के लाभ (Benefits of Yoga in Heart Health)

योग करने का एक धासु फायदा हमारी बॉडी को यह प्राप्त होता है कि हमारी बॉडी में जो खून का आवन जावन धीरे होता है, वह तेज हो जाता है, जिसे अंग्रेजी लैंग्वेज में ब्लड सरकुलेशन का अच्छा होना कहा जाता है। ब्लड सरकुलेशन अच्छा होने के कारण हमारी बॉडी के सभी अंगों तक खून की अच्छी मात्रा पहुंचने लगती है। इससे सभी अंगों को फायदा होता है, साथ ही हृदय को भी फायदा होता है और ह्रदय से संबंधित बीमारी का जोखिम घटता है।

2. तनाव कम करने में योग के फायदे (Benefits of Yoga in reduces stress)

यही वह सबसे मुख्य कारण है जिसके लिए योग को महिला और पुरुष दोनों के द्वारा किया जाता है। लोगों को अलग-अलग प्रकार की टेंशन होती है। टेंशन होने से सर दर्द भी करने लगता है। ऐसी अवस्था में टेंशन से छुटकारा पाने के लिए योग सुबह के टाइम में करना बढ़िया माना जाता है।

3. वजन घटाने के लिए योग के लाभ (Benefits of Yoga for Weight Loss)

बढ़ा हुआ मोटापा किसी भी व्यक्ति को अच्छा नहीं लगता है। बढे हुए मोटापे के कारण आदमी की बॉडी में कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है और उसका मोटापा कम होने में बहुत सी समस्याएं पैदा होने लगती है। ऐसी सिचुएशन में योग को मोटे लोगों को अवश्य ट्राई करना चाहिए। यह चर्बी को जलाता है। इससे वजन भी कम होता है और मोटापा भी घट जाता है।

4. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में योग के फायदे (Benefits of yoga in increasing immunity)

कोविड-19 की इस लहर में अपनी जान बचाने के लिए वैज्ञानिकों ने लोगों को अपनी इम्यूनिटी पावर को मजबूत करने के लिए कहा है। इम्यूनिटी पावर आप बहुत सी चीजों को खा कर के भी तेज कर सकते हैं और योग को करके भी आप अपनी इम्यूनिटी पावर को स्ट्रांग बना सकते हैं। अगर बॉडी की इम्युनिटी पावर स्ट्रांग होती है तो समझ लीजिए बॉडी को बीमारी होने की संभावना कम होती है।

5. श्वसन प्रणाली में सुधार के लिए योग के लाभ (Benefits of Yoga for improve the respiratory system)

अधिकतर योगासन में जो आसन होते हैं, उनमें हमें अपनी नाक के द्वारा सांस को अंदर बाहर करना होता है। यह क्रिया हमारी सांस लेने की प्रणाली को अच्छा करने का काम करती है क्योंकि इससे हमारे फेफड़े को अच्छा पंप मिलता है और वह तेजी के साथ और भी अच्छे तरीके से अपना काम करते हैं।

6. दर्द सहने की शक्ति देने के योग के फायदे (Benefits of Yoga to give strength to bear pain)

अधिकतर लोगों को अपने घुटनों में दर्द होता है जो कि काफी असहनीय होता है। योग करने पर हमारी बॉडी को दर्द सहने की ताकत मिलती है फिर चाहे वह जोड़ों का दर्द हो या कोई और दर्द हो। हालांकि यह तभी होगा जब आप रोजाना योग करेंगे।

ये भी पढ़ें : अर्ध चक्रासन क्या होता है? अर्ध चक्रासन के फायदे और करने का तरीका?

7. मेचयापचय में सुधार करने में योग के लाभ (Benefits of Yoga in Improving Metabolism)

हम रोजाना जो खाना खाते हैं उससे हमारी बॉडी को काम करने के ऊर्जा मिलती है। जब हमारी बॉडी के कुछ मुख्य अंग जैसे की लीवर, किडनी अच्छे से काम करते हैं तो हमारी बॉडी का मेटाबॉलिजम भी अच्छा बना रहता है जोकि योग करने से ही होता है।

8. अच्छी नींद के लिए योग के फायदे (Benefits of Yoga for Good Sleep)

नींद को इंसानों की सबसे बड़ी जरूरतों की लिस्ट में रखा गया है। दिन भर काम करने के बाद इंसान रात में यही चाहता है कि, उसे अच्छी नींद आए। अच्छी नींद दिलाने में योग सहायक होता है क्योंकि इस पर एनसीबीआई की वेबसाइट पर रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी। उन्होंने कहा था कि लगातार 2 से 3 महिने तक योग करने के बाद पहले की तुलना में व्यक्ति को काफी अच्छी नींद आने लगती है। इससे उसका स्वास्थ्य अच्छा बनता है।

9. एकाग्रता बढ़ाने में योग के लाभ (Benefits of Yoga in Increasing Concentration)

एकाग्रता विद्यार्थियों के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक होती है क्योंकि परीक्षा में पास होने के लिए उन्हें अपने सिलेबस को अच्छे से याद करना होता है जो तभी होता है जब उनकी याददाश्त तेज होती है अथवा उनकी एकाग्रता तेज होती है। एकाग्रता को बढ़ाने के लिए विद्यार्थियों को योग करना चाहिए, साथ ही उन सभी लोगों को योग करना चाहिए जो अपना फोकस एक जगह पर नहीं लगा कर के रख पाते हैं।

ये भी पढ़ें : सूर्य नमस्कार क्या होता है? सूर्य नमस्कार कैसे करते है? जानिए सूर्य नमस्कार के फायदे और नुकसान

10. सकारात्मक विचार पैदा करने के लिए योग के लाभ (Benefits of Yoga for Creating Positive Thoughts)

निगेटिव विचार किसी भी व्यक्ति को आगे नहीं बढ़ने देते हैं ना ही किसी दूसरे व्यक्ति को अच्छे लगते हैं। हर इंसान हमेशा जिंदगी में सफल बनना चाहता है और आगे बढ़ने के लिए पॉजिटिव विचारों का बॉडी में होना महत्वपूर्ण माना जाता है। योग करने से मन शांत होता है। इससे निगेटिव विचार दूर जाते हैं और पॉजिटिव विचार हमारे दिमाग में पैदा होते हैं।

योग करने के नियम – Rules of Yoga in Hindi

अगर आपने आज से पहले कभी भी योग नहीं किया है, तो किसी एक्सपर्ट ट्रेनर की देखरेख में ही योग करना चालू करें। हालांकि अगर आप योग के सामान्य आसन कर रहे हैं, तो आप उसे खुद से भी कर सकते हैं।

  • योग करने के लिए सुबह का समय सबसे बेस्ट समय माना जाता है। इसलिए कोशिश करें कि सुबह के समय में ही योग किया जाए।
  • खाली पेट योग करने की सलाह योग शास्त्र में दी गई है। इसीलिए इसे फॉलो करें।
  • योग करने के 2 घंटे पहले और योग कर लेने के 2 घंटे बाद तक आपको कुछ नहीं खाना चाहिए।
  • योग करने के लिए आपको हल्के कपड़े पहनने चाहिए, ताकि आप आसानी से अपनी पोजीशन को चेंज कर सकें।
  • जहां पर शांत वातावरण होता है, वहां पर योग करने का पूरा मजा आता है।
  • योग करने के दरमियान ध्यान भटकाने वाली चीजों को अपने से दूर रख दें। अपने फोन को स्विच ऑफ कर दें।
  • योग करने का फायदा एक ही दिन के अंदर नहीं मिलता है। इसमें महीनो लग जाते हैं। इसलिए संयम रखें और बिना फल की चिंता किए हुए लगातार योग करते जाएं।

योग कब करना चाहिए?

सुबह जब हम उठते हैं तब अधिकतर लोग सो रहे होते हैं। इससे होता क्या है कि सुबह का वातावरण शांत होता है, साथ ही सुबह में पक्षियों की मधुर ध्वनि भी हमारे मन को मोह लेती है। इसीलिए योग शास्त्रों में यह लिखा गया है कि योग करने के लिए सबसे बेस्ट समय सुबह का समय होता है, क्योंकि इस टाइम वातावरण में काफी शांति होती है और ताजी हवा हमें प्राप्त होती है, क्योंकि सुबह के समय में वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा ज्यादा होती है। इसीलिए कोशिश करें कि सुबह के समय मे ही योग करें।

सभी योग आसनों के नाम – Name of all Yoga asanas in Hindi

  • अधोमुखश्वानासन
  • अधोमुखवृक्षासन
  • आकर्णधनुरासन
  • अनन्तासन
  • अंजलिमुद्रा
  • अर्धचन्द्रासन
  • अर्धमत्स्येन्द्रासन
  • अर्धनावासन
  • बद्धगोमुखासन
  • बद्धकोणसन
  • बकासन
  • बालासन
  • गर्भासन
  • भेकासन
  • भरद्वाजासन
  • भुजंगासन
  • भुजपीडासन
  • चक्रासन
  • चतुरंगदण्डासन
  • दण्डासन
  • धनुरासन
  • द्विपादशिर्षासन
  • द्विपदविपरितदन्दसन
  • एकपादरजकपोतसन
  • एकपादशीर्षासन
  • एकपादप्रसारणसर्वांगतुलासन
  • एकपादशिर्षासन
  • गर्भासन
  • गरुडासन
  • गोमुखासन
  • हलासन
  • हनुमनासन
  • जठरपरिवर्तनासन
  • जानुशीर्षासन
  • काकासन
  • कपोतासन
  • कपोतासन
  • क्रौंचासन
  • कुक्कुटासन
  • कूर्मासन
  • लोलासन
  • महामुद्रा
  • मकरासन
  • मुक्तहस्तशीर्षासन
  • मण्डलासन
  • मत्स्यासन
  • मत्स्येन्द्रासन
  • मयूरासन
  • नटराजासन
  • निरालम्बसर्वांगासन
  • पादहस्तासन
  • परिपूर्णनावासन
  • परिवृत्तपार्श्वकोणासन
  • परिवृत्तत्रिकोणासन
  • पर्यंकासन
  • पाशासन
  • पश्चिमोत्तानासन
  • प्रसारितपादोत्तानासन
  • राजकपोतासन
  • शलभासन
  • समकोणासन
  • सर्वांगासन
  • सेतुबन्धसर्वांगासन
  • सेतुबन्धसन
  • सिद्धासन
  • मुक्तसन
  • गुप्तसन
  • सिंहासन
  • शीर्षासन
  • सुखासन
  • सुप्तभदकोणासन
  • सुप्तकोणासन
  • सुप्तपादांगुष्ठासन
  • सुप्तवीरासन
  • सुप्तवज्रासन
  • स्वस्तिकासन
  • ताडासन
  • टिट्टिभासन
  • त्रिकोणासन
  • तुलासन
  • उड्डीयानबन्ध
  • उपविष्टकोणासन
  • ऊर्ध्वधनुरासन
  • ऊर्ध्वमुखश्वानासन
  • ऊर्ध्वदण्डासन
  • उष्ठासन
  • उत्तानकूर्मासन
  • उत्कटासन
  • उत्तानासन
  • उत्थितहस्तपादांगुष्ठासन
  • उत्थितपार्श्वकोणासन
  • उत्थितत्रिकोणासन
  • वसिष्ठासन
  • वातायनासन
  • विपरीतकरणि
  • वज्रासन
  • वीरासन
  • वीरभद्रासन
  • वृक्षासन
  • वृश्चिकासन

योग का इतिहास – History of Yoga in Hindi

ऐसा कहा जाता है कि योग की उत्पत्ति वैदिक काल में हुई होगी। हालांकि इसके बारे में सटीक जानकारी नहीं है। हिंदू धर्म ग्रंथों और वेद तथा उपनिषदों में इस बात को बताया गया है कि योग का इतिहास वेदों से भी पुराना माना जाता है। महाभारत और गीता में भी योग की हिस्ट्री के बारे में बताया गया है। बता दें कि शंकर भगवान को योग विद्या में आदि योगी कहा गया है जिसके अनुसार करोड़ों साल पहले कांति सरोवर झील के किनारे पर आदि योगी ने अपने अनंत ज्ञान को सात ऋषियों को दिया था और इन्हीं 7 ऋषियों ने योग को दुनिया के अलग-अलग देशों में फैलाने का काम किया।

योग (Yoga) से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

रोजाना योग का अभ्यास करने से क्या होता है?

शारीरिक फायदे होते हैं।

योग कर लेने के बाद हमें क्या करना चाहिए?

थोड़ी देर आराम करना चाहिए।

क्या योग खाली पेट किया जाता है?

हां

योग 1 दिन में कितनी बार करना चाहिए?

एक बार सुबह और एक बार शाम के समय

योग करने के लिए ढीले कपड़े पहनना क्यों आवश्यक है?

ताकि आप बिना किसी अटकावन के योग कर सकें।

सुबह के समय में ही योग करने की सलाह क्यों दी जाती है?

वातावरण शांत होने के कारण

क्या हम योग करने के दरमियान ध्यान लगाते समय मंत्र का जाप कर सकते हैं?

हा

निष्कर्ष

आज के इस लेख में आपने जाना की योग क्या होता है? और योग खाने के फायदे और नुकसान? (Benefits and Side Effects of Yoga in Hindi) इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद भी अगर आपके मन में Yoga karne ke fayde को लेकर कोई सवाल उठ रहा है तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हैं। हमारी विशेषज्ञ टीम आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

अगर आपको लगता है कि इस लेख में कोई गलती है तो आप नीचे Comment करके हमसे बात कर सकते हैं, हम उसे तुरंत सुधारने की कोशिश करेंगे। अगर आपको हमारे द्वारा Yoga karne ke Nuksan पर दी गई जानकारी पसंद आई है और आपको इस लेख से कुछ नया सीखने को मिलता है, तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर शेयर करें। आप इस लेख का पोस्ट लिंक ब्राउजर से कॉपी कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर सकते हैं।

Leave a Comment